Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

World Environment Day : पीएम मोदी ने 'One Sun-One World-One Grid' का दिया विजन, एथेनॉल ब्लेंडिंग 2020-2025 के लिए रोडमैप जारी

पीएम नरेंद्र मोदी ने विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर एथेनॉल ब्लेंडिंग 2020-2025 के लिए रोडमैप जारी किया है। आगे कहा कि आज पर्यावरण मामले में दुनिया हमें लीडर की तरह देख रही है।

World Environment Day : पीएम मोदी ने One Sun-One World-One Grid का दिया विजन, एथेनॉल ब्लेंडिंग 2020-2025 के लिए रोडमैप जारी
X

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) के मौके पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश को संबोधित किया। इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने एथेनॉल ब्लेंडिंग 2020-2025 के लिए रोडमैप जारी किया है। साथ ही ई 100 पायलट परियोजना का शुभारंभ भी किया।

पीएम मोदी ने संबोधित करते हुए कहा कि हमारे किसान साथियों से जब मैं बात कर रहा था, तो कैसे बायो फ्यूज से जुड़ी व्यवस्थाओं को वे सहज रूप से अपना रहे हैं, ये उनका आत्मविश्वास बता रहा है। स्वच्छ ऊर्जा को लेकर देश में जो बड़ा अभियान चल रहा है, उसका लाभ कृषि क्षेत्र को मिलना भी स्वाभाविक है। आगे कहा कि बीते साल ही ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने 21,000 करोड़ रुपये का इथेनॉल खरीदा है। इसका एक बड़ा हिस्सा हमारे किसानों की जेब में गया है। विशेष रूप से गन्ना किसानों को इससे बड़ा लाभ हुआ है।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए विश्व पर्यावरण दिवस पर पीएम ने कहा कि अब इथेनॉल 21वीं सदी के भारत की बड़ी प्राथमिकताओं से जुड़ गया है। इथेनॉल पर फोकस से पर्यावरण के साथ ही एक बेहतर प्रभाव किसानों के जीवन पर भी पड़ रहा है। आज हमने पेट्रोल में 20 प्रतिशत इथेनॉल ब्लेंडिंग के लक्ष्य को 2025 तक पूरा करने का संकल्प लिया है।

आगे कहा कि क्लाइमेट चेंज की वजह से जो चुनौतियां सामने आ रही हैं, भारत उनके प्रति जागरूक भी है और सक्रियता से काम भी कर रहा है। 6-7 साल में रिन्यूएबल एनर्जी की हमारी क्षमता में 250 फीसदी से अधिक की बढ़ोतरी हुई है। इंस्टॉलड रिन्यूएबल एनर्जी क्षमता के मामले में भारत आज दुनिया के टॉप-5 देशों में है। इसमें भी सौर ऊर्जा की क्षमता को बीते 6 साल में लगभग 15 गुना बढ़ाया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पर्यावरण की रक्षा के लिए हमारे प्रयासों का संगठित होना बहुत ज़रूरी है। देश का एक-एक नागरिक जब जल-वायु और ज़मीन के संतुलन को साधने के लिए एकजुट होकर प्रयास करेगा, तभी हम अपनी आने वाली पीढ़ियों को एक सुरक्षित पर्यावरण दे पाएंगे। आज भारत ने दुनिया में अपने नई पहचान बनाई है। हम कई क्षेत्रों में आगे बढ़ रहे हैं।





Next Story