Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

One Nation One Ration Card Scheme: जानें क्या है 'एक देश एक राशन कार्ड योजना', किसको कैसे मिलेगा लाभ

One Nation One Ration Card Scheme: केंद्रीय फूड मंत्री रामविलास पासवान ने केंद्र सरकार की 'एक देश एक राशन कार्ड योजना' योजना का ऐलान कर दिया है। जानें कैसे देश की जनता को इसका लाभ मिलेगा।

One Nation One Ration Card Scheme: जानें क्या है एक देश एक राशन कार्ड योजना, किसको कैसे मिलेगा लाभ
X

One Nation One Ration Card Scheme: केंद्रीय फूड मंत्री रामविलास पासवान ने केंद्र सरकार की 'वन नेशन वन राशन कार्ड' योजना का ऐलान कर दिया है। पासवान ने कहा कि इस साल 1 जून से पूरे देश में इस योजना को लागू किया जाएगा।

पासवान ने कहा कि राशन कार्ड के अंतर-राज्य या राष्ट्रीय पोर्टेबिलिटी की सुविधा इस साल 1 जनवरी से 12 राज्यों में मिलनी शुरू हो जाएगी। इस सुविधा को जून के महीने तक आठ और राज्यों में फैला दिया जाएगा।

इसके अलावा उत्तर पूर्वी राज्यों के कुछ पहाड़ी क्षेत्रों को छोड़कर जहां ई-पीओएस (इलेक्ट्रॉनिक पॉइंट ऑफ सेल) डिवाइस का काम नहीं है। राशन कार्ड की अंतर-राज्य या इंट्रा-स्टेट पोर्टेबिलिटी 1 जून से पूरे देश में उपलब्ध होगी।

जानें क्या है एक देश एक राशन कार्ड योजना

केंद्र ने राशन कार्ड के लिए एक मानक प्रारूप तैयार किया है। जिसे 'एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड' का नाम दिया गया है। इस योजना के तहत देश में रहने वाली किसी भी नागरिक का एक ही राशन कार्ड होगा और साथ ही वो कही भी रह रहा होगा उसे वहीं पर राशन उपलब्ध होगा। राज्य सरकारों से नए राशन कार्ड जारी करते समय पैटर्न का पालन करने के लिए कहा है। केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी पहल को पायलट आधार पर छह राज्यों के क्लस्टर में लागू किया जा रहा है। यह 1 जून, 2020 से पूरे देश में इस सुविधा को लागू करना चाहता है।

किसको मिलेगा लाभ

इस योजना का लाभ देश के उन लोगों को मिलेगा जो इसके दायरे में आते हैं और राशन लेते हैं। वो देश के किसी भी कौन से राशन खरीद सकेंगे। लाभार्थी राशन कार्ड का उपयोग करके देश के किसी भी उचित मूल्य की दुकान से राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) के तहत अपने सामान खरीद सकता है।

10 नंबर का होगा कार्ड

राज्यों को 10 अंकों का राशन कार्ड नंबर जारी किया जाएगा। जिसमें पहले दो अंक राज्य कोड होंगे और अगले दो अंक राशन कार्ड नंबर होंगे। इसके अलावा राशन कार्ड नंबर के साथ एक और दो अंकों के सेट को जोड़ा जाएगा, राशन कार्ड में घर के प्रत्येक सदस्य के लिए अद्वितीय सदस्य आईडी बनाने के लिए आधिकारिक तौर पर जोड़ा। आंकड़ों के अनुसार, 81.35 करोड़ के लक्ष्य के मुकाबले अब तक लगभग 75 करोड़ लाभार्थियों को कवर किया गया है।

Next Story