Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bengal Violence : ममता की 'चाय' पीने के बाद हिंसा प्रभावित क्षेत्र में पहुंची केंद्रीय गृह मंत्रालय की टीम, पीड़ित लोगों से की बातचीत

गृह मंत्रालय ने चार सदस्यीय टीम को बंगाल में चुनाव उपरांत हिंसा से उपजे हालातों की समीक्षा करने भेजा है। सीएम ममता बनर्जी ने तंज कसा था कि एक टीम आई और चाय पीकर वापस चली गई। सीएम के इस तंज के कुछ समय बाद ही खबर आई कि टीम हिंसा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने निकल पड़ी है।

Bengal Violence : ममता की चाय पीने के बाद हिंसा प्रभावित क्षेत्र में पहुंची केंद्रीय गृह मंत्रालय की टीम, पीड़ित लोगों से की बातचीत
X

पश्चिम बंगाल के नार्थ 24 परगना के भाटवाड़ा गांव में हालात का जायजा लेने पहुंची केंद्रीय गृह मंत्रालय की टीम।

पश्चिम बंगाल में चुनाव उपरांत हिंसा से उपजे हालात का जायजा लेने पहुंची गृह मंत्रालय की टीम ममता बनर्जी की कथित चाय पीने के बाद काम में जुट गई है। चार सदस्यीय टीम ने देर शाम नार्थ 24 परगना जिले का दौरा कर हिंसा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और प्रभावित लोगों से बातचीत की।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नार्थ 24 परगना में कल यानी बुधवार को भी हिंसा हुई थी। भाटपाड़ा के कांकिनाड़ा इलाके में भाजपा कार्यकर्ता के घर पर अज्ञात लोगों ने बम फेंका। यह घर बीजेपी कार्यकर्ता राज विश्वास का बताया गया है। आरोप है कि चुनाव परिणाम आने के बाद से पूरे बंगाल में बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं को चुन-चुनकर निशाना बनाया जा रहा है।

ऐसे में गृह मंत्रालय ने चार सदस्यीय टीम को बंगाल भेजा था ताकि हिंसा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर वहां के हालात की समीक्षा कर सकें। टीम आज सीधे कोलकाता पहुंची और डीजी व गृह सचिव के साथ बैठक की। इसके बाद टीम शाम को नार्थ 24 परगना के भाटपाड़ा पहुंची और हिंसा प्रभावित लोगों से बातचीत की।

इससे पूर्व बंगाल भाजपा के प्रमुख दलीप घोष के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने भी टीम से मुलाकात की। मुलाकात के बाद दलीप घोष ने बताया कि प्रदेश की करीब आधी विधानसभा सीटों पर हिंसा हुई है, जिसमें 21 लोग मारे गए। हमने उनसे (केंद्रीय गृह मंत्रालय की टीम) ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर लोगों से मिलने का आग्रह किया है।

बता दें कि सीएम ममता बनर्जी ने अब से कुछ समय पहले ही गृह मंत्रालय की इस टीम पर तंज कसा था। उन्होंने कहा था, 'एक टीम आई थी, उन्होंने चाय पी और वापस चले गए। हालांकि कोविड चालू है, अब अगर मंत्री आते हैं, तो उन्हें आरटी-पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट लानी होगी, चाहे वे स्पेशल फ्लाइट से ही क्यों न आएं। भाजपा नेताओं के बार-बार यहां आने के कारण कोविड बढ़ रहा है।'


Next Story