Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

NIA ने 'दीदी' को दिया झटका, इस आरोप में UAPA के तहत छत्रधर महतो गिरफ्तार, जानें क्या है पूरा मामला

आपको बता दें कि महतो को 2009 में भुवनेश्वर-नई दिल्ली एक्सप्रेस को हाईजैक करने के आरोप में हिरासत में लिया गया। छत्रधर महतो ने अपने साथियों के साथ गोलीबारी करके इस ट्रेन को कब्जाने की कोशिश की थी।

NIA ने
X

NIA ने 'दीदी' को दिया झटका

पश्चिम बंगाल विधानसभा के चुनाव आरंभ हो चुके है। इसी बीच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने ममता बनर्जी को झटका दिया है। उनके करीबी माने जाने वाले छत्रधर महतो को एनआईए के अधिकारियों ने गिरफ्तार कर लिया है। आपको बता दें कि महतो को 2009 में भुवनेश्वर-नई दिल्ली एक्सप्रेस को हाईजैक करने के आरोप में हिरासत में लिया गया। छत्रधर महतो ने अपने साथियों के साथ गोलीबारी करके इस ट्रेन को कब्जाने की कोशिश की थी।

छत्रधर महतो को आज कोर्ट में किया जाएगा पेश

महतो को ममता बनर्जी का दूत भी कहा जाता है। महतो ममता बनर्जी के कोर समिति के सदस्य भी हैं। इस विधानसभा चुनाव में महतो टीएमसी के लिए लगातार चुनाव प्रचार कर रहे थे। बंगाल के आदिवासी इलाकों में महतो की इतनी अच्छी पकड़ है कि 2016 विधानसभा चुनाव में जेल में रहते हुए महतो ने टीएमसी को यहां से जीत दिला दी थी। छत्रधर महतो को यूएपीए के तहत साल 2009 के राजधानी एक्सप्रेस मामले में गिरफ्तार किया गया है। आज छत्रधर महतो को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

पिछले साल छत्रधर महतो की हुई थी रिहाई

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, महतो को पहले भी गिरफ्तार किया गया था लेकिन जेल से छूटने के बाद उन्हें टीएमसी ने अपनी पार्टी में शामिल कर लिया। पिछले साल छत्रधर महतो ने माओवादी पार्टी का दामन छो़ड़कर तृणमूल कांग्रेस का हाथ पकड़ लिया था। छत्रधर महतो पिछले साल फरवरी में ही जेल से छूटे हैं, दस साल तक वो जेल में रहे। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एनआईए को भुवनेश्वर-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस अपहरण मामले की जांच करने का आदेश दिया था। 2009 में इस ट्रेन का अपहरण हुआ था और इसका आरोप पीसीएपीए पर लगाया गया था। जो माओवादी इस घटना में शामिल थे, वो महतो की रिहाई की मांग करते रहे।

Next Story