Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली समेत देश के कई राज्यों में वायरल बुखार से हड़कंप, अस्पतालों में एक बेड पर तीन से चार बच्चों का हो रहा इलाज, एक्सपर्ट ने दी ये सलाह

एम्स के अधिकारियों का कहना है कि बच्चों में निमोनिया इन्फ्लुएंजा के मामले ज्यादा मिल है। वहीं उत्तर प्रदेश में सरकारी टीम को स्क्रब टाइफस और लेप्टोस्पिरोसिस जैसे बैक्ट्रियल संक्रमण के भी मामले मिले हैं। बिहार में अस्पतालों का बुरा हाल है। क्योंकि एक बेड पर तीन से चार बच्चों का इलाज हो रहा है। ये बच्चे कोरोना से नहीं बल्कि वायरल बुखार की चपेट में है।

दिल्ली समेत देश के कई राज्यों में वायरल बुखार से हड़कंप, अस्पतालों में एक बेड पर तीन से चार बच्चों का हो रहा इलाज, एक्सपर्ट ने दी ये सलाह
X

दिल्ली समेत देश के कई राज्यों में वायरल बुखार से हड़कंप

Viral Fever दिल्ली समेत देश के कई राज्यों में वायरल का दौर जारी है। इसे कई राज्यों में बच्चें बीमार (Children Illness) हो रहे है। अस्पतालों में वायरल बुखार तेजी से फैल रहा है। वहीं, इसके लक्षण अलग-अलग प्रकार के सामने आ रहे है। जहां उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और बीमार में वायरल के अलावा डेंगू (Dengue) और वायरल का प्रकोप फैलता जा रहा है। वहीं दिल्ली-एनसीआर (Delhi NCR) में मौसमी बुखार के मामले ज्यादा सामने आ रहे हैं।

एम्स के अधिकारियों का कहना है कि बच्चों में निमोनिया इन्फ्लुएंजा (Pneumoniae Influenza) के मामले ज्यादा मिल है। वहीं उत्तर प्रदेश में सरकारी टीम को स्क्रब टाइफस और लेप्टोस्पिरोसिस जैसे बैक्ट्रियल संक्रमण के भी मामले मिले हैं। बिहार में अस्पतालों का बुरा हाल है। क्योंकि एक बेड पर तीन से चार बच्चों का इलाज हो रहा है। ये बच्चे कोरोना से नहीं बल्कि वायरल बुखार की चपेट में है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक ये बीमारियां नवजात बच्चों और कम इम्युनिटी वाले बच्चों में मौत का कारक भी बन रही हैं। इनके अलावा अन्य बच्चों में दवा का असर बेहतर हो रहा है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देशभर में मानसून सीजन के कारण मच्छरजनित बीमारियां भी फैली हुई हैं। नीति आयोग के सदस्य और कोविड टास्क फोर्स के हेड डॉ. वीके पॉल ने कहा कि कोरोना के अलावा हमें डेंगू और मलेरिया से लड़ने के लिए भी पर्याप्त तैयार रहना चाहिए। हमें हाथ ढककर रखने चाहिए और मॉस्क्यूटो रिपेलेंट और मच्छरदानी का इस्तेमाल करना चाहिए।

Next Story