Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भोपाल में सड़क पर उतरे शिक्षा मंत्री तो लोग भूले कोविड प्रोटोकॉल का पाठ, गुजरात हाई कोर्ट ने भी ऐसी आदतों पर जताई चिंता

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास नारंग ने भोपाल में घर-घर जाकर लोगों से अपील की कि कोविड प्रोटोकॉल का गंभीरता से पालन करें। हालांकि इस दौरान कई लोग सोशल डिस्टेसिंग का पालन भी नहीं करते नजर आए।

भोपाल में सड़क पर उतरे शिक्षा मंत्री तो लोग भूले कोविड प्रोटोकॉल का पाठ, गुजरात हाई कोर्ट ने भी ऐसी आदतों पर जताई चिंता
X

भोपाल में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास नारंग के जागरूकता अभियान के दौरान कई लोगों ने सामाजिक दूरी का पालन नहीं किया।  

मध्य प्रदेश के भोपाल में कोरोना संक्रमण के खिलाफ शिक्षा मंत्री विश्वास नारंग की ओर से चलाए गए जागरुकता अभियान के दौरान कई लोग सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करते दिखाई दिए। विश्वास नारंग लोगों से लगातार अपील करते रहे कि कोविड प्रोटोकॉल का गंभीरता से पालन करें। इस दौरान उन्होंने कई लोगों को मास्क ठीक से न पहनने और अन्य लापरवाहियों के लिए भी टोका।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास नारंग ने भोपाल में घर-घर जाकर लोगों से अपील की कि कोविड प्रोटोकॉल का गंभीरता से पालन करें। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी पर जीत के लिए जरूरी है कि सभी लोग वैक्सीनेशन कराएं और कोविड प्रोटोकॉल का गंभीरता से पालन करें। उन्होंने बताया कि भोपाल को जून से अनलॉक करने की तैयारी की जा रही है। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि प्रदेश सरकार की ओर से जारी तमाम दिशा-निर्देशों का पालन करें ताकि जल्द से जल्द इस महामारी से निजात पाई जा सके।

हर छह माह में आई कोरोना की नई लहर

गुजरात हाई कोर्ट ने राज्य सरकार को कोरोना संक्रमण की तीसरी और चौथी लहर की संभावना को देखते हुए स्वास्थ्य सेवाओं के ढांचे में उचित सुधार करने की सलाह दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जस्टिस बेला त्रिवेदी और भार्गव डी कारिया की डिवीजन बेंच ने बुधवार को एक याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि चीन जैसा अनुशासन भारत में लागू नहीं किया जा सकता है। यहां हर छह महीने में नई लहर आएगी, इसलिए राज्य सरकार को तैयार रहना होगा।

Next Story