Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Vijay Diwas 1971: एक दो नहीं बल्कि 4 बार हुए हैं भारत-पाकिस्तान के बीच यु्द्ध, जानें ये 7 रोचक बातें

Vijay Diwas 1971: साल 1971 में भारत और पश्चिमी पाकिस्तान के बीच पूर्वी पाकिस्तान में लोगों पर अत्याचार के खिलाफ जंग हुई। इस जंग में भारतीय जवानों का लोहा दुनिया ने माना था।

Vijay Diwas 1971: एक दो नहीं बल्कि 4 बार हुए हैं भारत-पाकिस्तान के बीच यु्द्ध, जानें ये 7 रोचक बातें
X

Vijay Diwas 1971: विजय दिवस भारत के इतिहास में एक महत्वपूर्ण दिन कहा जाता है। विजय दिवस पर देश पर जान न्यौछावर करने वाले जवानों की याद में मनाया जाता है। साल 1971 में भारत और पश्चिमी पाकिस्तान के बीच पूर्वी पाकिस्तान में लोगों पर अत्याचार के खिलाफ जंग हुई। इस जंग में भारतीय जवानों का लोहा दुनिया ने माना था। तब सत्ता में इंदिरा गांधी की सरकार थी।

इतिहास के मुताबिक साल 1971 में भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध जीता। जिसके बाद जन्म हुआ बांग्लादेश का (तब पूर्वी पाकिस्तान)। 48 साल पहले 93 हजार पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय सेना के आगे अपने घुटने टेक दिए थे। 1947 में अंग्रेजों से आजादी के बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच कई बार युद्ध हुए। लेकिन 1971 और 1999 में हुए कारगिल युद्ध को सबसे ज्यादा याद किया जाता है। जिसमें भारत ने अपना झंडा बुलंद कर दिया था। पाकिस्तान से भारत के बीच 1947, 1965, 1971 और 1999 में युद्ध हुआ।

जानें 7 रोचक बातें...

1. साल 1971 में भारत-पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध को 48 साल हो चुके हैं। जब पाकिस्तान ने भारत के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था। विभाजन के बाद से भारत और पाकिस्तान को चार युद्धों हुए जिसमें 1947, 1965, 1971 और 1999 का कारगिर युद्ध शामिल है।

2. भारत और पाकिस्तान के बीच 1971 का युद्ध दोनों देशों के बीच एक प्रमुख सैन्य युद्ध था। जिसमें भारत के 1500 जवान शहीद हो गए थे। ये उस वक्त की सबसे बड़ी क्षति थी। जिसको आज भी पूरा नहीं किया जा सकता है।

3. 16 दिसंबर 1971 को पाकिस्तानी सेना के 93 हजार सैनिकों ने युद्ध के दौरान सफेद झंडा दिखाकर, खुद को भारतीय सेना के सामने आत्मसमर्पण कर दिया।

4. यह संघर्ष बांग्लादेश मुक्ति संग्राम का परिणाम था, जब बांग्लादेश पाकिस्तान से आजादी हुआ। लेकिन उससे पहले पाकिस्तान को दो नामों से पुकारा जाता था। एक पश्चिमी पाकिस्तान (पाकिस्तान) और दूसरा पूर्वी पाकिस्तान (बांग्लादेश)।

5. भारत की जीत से बांग्लादेश का जन्म हुआ तो जवानों की जीत के लिए भारतीय सेना के लिए जश्न का एक बड़ा दिन होता है। इसलिए इस दिन को विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है। भारतीय सेना की जीत का स्मरण करने के लिए पीएम से लेकर एक नागरिक कर उनके बलिदान को याद करता है।

6. कहते हैं कि 16 दिसंबर 1971 को भारत और पाकिस्तान के बीच सैन्य युद्ध 3 दिसंबर तक ढाका पहुंचते पहुंचते कम हो गया।

7. भारत और पाकिस्तान के 3 हजार 800 से अधिक सैनिक इस युद्ध में शहीद हुए थे। ऐसे माना जाता है कि इस युद्ध के दौरान बांग्लादेश के 3 लाख लोग मारे गए थे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story