Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

US India Annual Leadership Summit: USISPF के तीसरे वार्षिक नेतृत्व शिखर सम्मेलन में बोले नरेंद्र मोदी, भारत में ऐसी सरकार है जो सिर्फ परिणाम देने पर विश्वास रखती है

US India Annual Leadership Summit Live: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका-भारत सामरिक साझेदारी फोरम के तीसरे सालाना शिखर सम्मेलन को संबोधित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका के संबंध काफी बेहतर होते जा रहे हैं।

कोरोना को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की बैठक, कहा - पूरे देश में वैक्सीन पहुंचाने की व्यवस्था करें
X
पीएम नरेंद्र मोदी

US India Annual Leadership Summit Live: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका-भारत सामरिक साझेदारी फोरम के तीसरे सालाना शिखर सम्मेलन को संबोधित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका के संबंध काफी बेहतर होते जा रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने कहा कि चुनौती से निपटने के लिए भारत में ऐसी सरकार है जो केवल परिणाम देने पर विश्वास रखती है।

मास्क और सैनिटाइजर का जरूरतों को सबसे पहले समझा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत और अमेरिका के बीच दोस्ती का रिश्ता बेहतर हो रहा है। उन्होंने कहा कि 2020 के शुरूआती दिनों में किसे पता था कि दुनिया कोरोना जैसी महामारी के चपेट में आने वाली है।

उन्होंने कहा कि हमने वक्त पर मास्क और सैनिटाइजर की जरूरतों को समझा। जनवरी में हमारे पास केवल एक टेस्टिंग लैब था। लेकिन आज हमारे पास 1600 टेस्टिंग लैब है। इसके अलावा भारत में रिकवरी रेट भी काफी बेहतर हुआ है। साथ ही मृत्यु दर में भी काफी कमी आई है।

आत्मनिर्भर भारत की ओर कदम बढ़ा रहा देश

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत के 1.3 अरब लोग आत्मनिर्भर भारत की ओर कदम बढ़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसका लक्ष्य भारत को ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग हब बनाना है। वर्तमान समय में हमने रेलवे , डिफेंस और स्पेस सेक्टर में भी काफी प्रगति की है। इसके अलावा 2019 में देश की एफडीआई में भी 20 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई।

महामारी ने डाला कई चीजों पर असर

नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत में कोरोना वायरस ने हर सेक्टर में असर डाला है। लेकिन हमारी आत्मशक्ति और महत्वकाक्षाओं पर इसका कोई असर नहीं हुआ है। कोरोना महामारी के बीच देशभर के लोग आत्मनिर्भर भारत के मिशन पर लगातार काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि भारत युवाओं का देश है। यहां 35 साल से कम उम्र की 65 प्रतिशत आबादी रहती है। इसके साथ ही हर चुनौती से निपटने के लिए भारत के पास एक ऐसी सरकार है जो केवल रिजल्ट देने पर विश्वास करती है।

Next Story