Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भारत में ईरान के राजदूत का बड़ा बयान, बोले- हम युद्ध नहीं चाहते, भारत शांति का प्रयास करेगा तो हम स्वागत करेंगे

ईरान और अमेरिका के बीच तनाव को लेकर भारत में रह रहे ईरान के राजदूत अली चेगेनी ने बड़ा बयान दिया है।

भारत में ईरान के राजदूत का बड़ा बयान, बोले- हम युद्ध नहीं चाहते, भारत शांति का प्रयास करेगा तो हम स्वागत करेंगेभारत में ईरान के राजदूत अली चेगेनी

भारत में ईरान के राजदूत अली चेगेनी ने कहा कि अमेरिका के साथ तनाव घटाने के लिए भारत के किसी भी कदम का स्वागत ईरान स्वागत करेगा। ईरान और अमेरिका के बीच तनाव को लेकर भारत में रह रहे ईरान के राजदूत अली चेगेनी ने बड़ा बयान दिया है। अली चेगेनी ने कहा कि अगर ईरान के सैन्य कमांडर कासम सोलीमनी की हत्या के बाद अमेरिका के साथ अपने तनाव को कम करने के लिए ईरान भारत द्वारा किसी भी शांति पहल का स्वागत करेगा।

एएनआई के मुताबिक, अली चेगेनी ने कहा हम युद्ध की तलाश में नहीं हैं। हम भारत सहित अपने भाइयों और बहनों के साथ इस क्षेत्र में शांति से रह रहे हैं। हमें इस क्षेत्र में कोई तनाव नहीं चाहते हैं। भारत में ईरान के राजदूत ने कहा कि भारत इस क्षेत्र का एक हिस्सा है। यह एक हिस्सा डी-एस्केलेशन होना चाहिए। हम भारत के अपने अच्छे मित्रों की ओर से किसी भी पहल का स्वागत कर रहे हैं।

शीर्ष कमांडर जनरल कासिम सोलेमानी की हत्या का बदला लेने के लिए ईरान ने दो अमेरिकी सैन्य ठिकानों के खिलाफ मिसाइल हमला किया। उन्होंने कहा कि भारत आमतौर पर दुनिया में शांति बनाए रखने में बहुत अच्छी भूमिका निभाता है। उसी समय भारत इस क्षेत्र से संबंधित है। हम सभी देशों, विशेषकर भारत के लिए एक अच्छी दोस्त के रूप में हमारे द्वारा की गई सभी पहल का स्वागत करते हैं, ताकि वे तनाव ना बढ़ा सकें।

इराक में अमेरिकी सेना और गठबंधन बलों के कम से कम दो ठिकानों को निशाना बना कर ईरान ने एक दर्जन से अधिक बैलिस्टिक मिसाइलें दागे जाने के कुछ ही घंटों बाद राजदूत का यह बयान आया है।

गौरतलब है कि सुलेमानी के मारे जाने के बाद से अमेरिका और ईरान के बीच तनाव बढ़ गया। चेगेनी ने सुलेमानी को निशाना बनाने वाले ड्रोन हमले के बारे में बात करते हुए कहा कि वह एक तीसरे देश में थे। इसलिए दुनिया के लिए बहुत जरूरी है कि वह इस तरह के अमानवीय, अवैध कार्य की इजाजत नहीं दे, जो कि अंतर्राष्ट्रीय अधिकारों के खिलाफ हो।

Next Story
Top