Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

UP Election 2022: अखिलेश और मोर्य की वर्चुअल रैली में नियमों की अनदेखी, DM ने जारी किया जांच का फरमान

लखनऊ में समाजवादी पार्टी की वर्चुअल रैली को लेकर डीएम ने जांच के आदेश दे दिए हैं।

UP Election 2022: अखिलेश और मोर्य की वर्चुअल रैली में नियमों की अनदेखी, DM ने जारी किया जांच का फरमान
X

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के लखनऊ में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) की रैली हुई। इस रैली का नाम ही रखा गया था वर्चुअल रैली। अब लखनऊ डीएम ने सपा की रैली की जांच का फरमान जारी कर दिया है। चुनाव आयोग ने चुनावी राज्यों में रैली को लेकर कहा था कि भीड़ को कम किया जाए।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, समाजवादी पार्टी ने ने अपने कार्यालय में आयोजित इस कार्यक्रम को वर्चुअल रैली का नाम दिया था। लेकिन वहां भारी भीड़ मौजूद थी। जिसके बाद लखनऊ के डीएम ने इस पर जांच के आदेश दे दिए हैं। लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने बताया कि सपा का कार्यक्रम बिना इजाजत के हुआ है। सूचना मिलने पर पुलिस टीम को मजिस्ट्रेट के साथ सपा के मुख्यालय पर भेजा गया है। इस मामले पर कार्रवाई की जाएगी।

यह कार्यक्रम लखनऊ में सपा पार्टी में भाजपा छोड़कर आने वाली नेताओं के लिए किया गया था। स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई नेता आज सपा में शामिल हुए। बता दें कि पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य और धर्म सिंह सैनी आज समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि आज भाजपा के खात्मे का शंखनाद बज गया है। भाजपा ने देश और प्रदेश की जनता को गुमराह कर उनकी आंखों में धूल झोंकी है और जनता का शोषण किया है। अब भाजपा का खात्मा करके उत्तर प्रदेश को भाजपा के शोषण से मुक्त कराना है।

मौर्य ने सपा में शामिल होने के दौरान कहा कि भाजपा ने केशव मौर्य और स्वामी प्रसाद मौर्य का नाम लेकर राज्य में सरकार बनाई। चर्चा थी कि केशव या स्वामी पर जो हुआ वह सीएम होगा। उन्होंने कहा कि अब लड़ाई 80 और 20 के दशक की नहीं है। अब लड़ाई 85 और 15 की है। जानकारी के लिए बता दें कि चुनाव आयोग ने भी चुनावी राज्यों में 15 जनवरी तक रैलियों और रोड शो दोनों पर प्रतिबंध लगा दिया था।

Next Story