Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Budget 2019-20: आम बजट में कैपिटल गुड्स सेक्टर को फायदा, इन शेयरों से हो सकता है भारी मुनाफा

Budget 2019-19 बजट 2019-20 / वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 5 जुलाई 2019 को मोदी सरकार 2.0 का पहले बजट पेश करेंगी। उम्मीद जताई जा रहा है कि आर्थिक विकास को बढ़ाने के लिए सरकार आम बजट 2019-20 में आधारिक संरचना (इंफ्रास्ट्रक्चर) तेल और गैस, बिजली, स्टील और ऑटोमोबाइल जैसे सेक्टर को मदद देकर सुधार करेगी।

Budget 2019-20: आम बजट में कैपिटल गुड्स सेक्टर को फायदा, इन शेयरों से हो सकता है भारी मुनाफा
X
unoin budget 2019 eye on capital goods space many stocks likely to benefit most

Budget 2019-20 बजट 2019-20 / वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 5 जुलाई 2019 को मोदी सरकार 2.0 का पहला बजट पेश करेंगी। उम्मीद जताई जा रहा है कि आर्थिक विकास को बढ़ाने के लिए सरकार आम बजट 2019-20 में आधारिक संरचना (इंफ्रास्ट्रक्चर) तेल और गैस, बिजली, स्टील और ऑटोमोबाइल जैसे सेक्टर को मदद देकर सुधार करेगी। सरकार द्वारा इन सेक्टर पर ध्यान देने से पब्लिक और प्राइवेट निवेश बढ़ेगा। इससे पूंजीगत वस्तु उद्योग (कैपिटल गुड्स इंडस्ट्री) को लाभ होगा।

सरकार इंफ्रास्ट्रक्चर के अलावा बजट का फोकस कृषि क्षेत्र पर भी रहेगा ताकि किसानों की आय में बढ़ोत्तरी की जा सके। इसके साथ ही बजट में ग्रामीण आय, स्मार्ट सिटीज, नवीकरणीय ऊर्जा, भारतीय रेलवे का आधुनिकीकरण, पानी पहुंचाना (पाइप्ड वॉटर) और 2022 तक सबके लिए घर मुहैया कराने से जुड़ी कुछ योजनाओं की घोषणा की जा सकती है।

इन सब फैसलों से अप्रत्यक्ष तौर पर पूंजीगत वस्तु और इंजीनियरिंग उद्योग को फायदा होगा। कृषि गतिविधि में बढ़ोत्तरी से ग्रामीण आय में वृद्धि होगी। इसके बाद इससे सीमेंट, इस्पात और बिजली जैसे उद्योगों में वृद्धि होगी, जो आगे चलकर पूंजीगत वस्तुओं की मांग को बढ़ाएगा। हमें विश्वास है कि यह बजट बुनियादी परियोजनाओं के लिए निवेश के प्रवाह (फ्लो) को बढ़ाने के लिए बेहतर सार्वजनिक निजी भागीदारी ढांचे को सुविधाजनक बनाने की कोशिश करेगा।

भारी इंडस्ट्रियों के विभाग के लिए लागतार बजटीय समर्थन पूंजीगत वस्तु उद्योग की प्रतिस्पर्धा और तकनीकी विकास को प्रोत्साहित (बढ़ोत्तरी) करेगा। आईओटी, एडिटिव मैन्युफैक्चरिंग, रोबोटिक्स, ऑटोमेशन सहित एडवांस मैन्युफैक्चरिंग और डिजिटलीकरण में निवेश को बढ़ावा देने पर ध्यान दिया जाएगा। जीएसटी के प्रभाव में सुधार से उद्योग के लिए आपूर्ति श्रृंखला लागत को कम करने में मदद मिलेगी।

हमें लगता है कि करदाताओं के अनुकूल, पारदर्शी (मुनाफाखोरी-रोधी) जीएसटी शासन के लिए अतिरिक्त उपायों की जरूरत है जिससे व्यापार आसान हो जाए।

सड़क और हाईवे के लिए आवंटन में बढ़ोत्तरी और प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के लिए बजटीय स्पोर्ट निर्माण उपकरण की मांग को रोक देगा।

इन शेयरों को फायदा हो सकता है..

पुनर्जीवन और शहरी परिवर्तन के लिए अटल मिशन के तहत शहरी विकास के लिए बढ़ा हुआ धन आवंटन उन कंपनियों के लिए सकारात्मक होगा जो जल और गंदे नाले प्रबंधन के लिए काम करते हैं। जिसमें वीए टेक वाबाग (Va Tech Wabag), वोल्टास (Voltas), आयन एक्सचेंज (Ion Exchange) आदि शामिल हैं।

ठीक इसी तरह डिजिटल इंफ्रा, ट्रांसमिशन और केबल सर्विसेज वाली कंपनियां भी मुनाफे में रहेंगी। इसका सबसे अधिक फायदा एल&टी (L&T), एबीबी इंडिया (ABB India), कल्पतरु पावर ट्रांसमिशन (Kalpataru Power Transmission), (केईसी इंटरनेशनल) KEC International, सीमेंस इंडिया (Siemens India) जैसी कंपनियों को होगा। बजट की घोषणाओं को ध्यान में रखकर इन कंपनियों में निवेश किया जा सकता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story