Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Unnao Updates: SC का सभी केस दिल्ली ट्रांसफर करने का आदेश, 45 दिन के भीतर पूरी होगी सुनवाई

उन्नाव रेप केस मामले पर सुप्रीम कोर्ट पीड़िता को दिल्ली एयरलिफ्ट कर लाने का आदेश जारी कर सकती है। वहीं कोर्ट ने सीबीआई से इस पूरे मामले से जुड़े 5 केसों की रिपोर्ट भी 7 दिन के अंदर मांगी है। इसके अलावा इस केस की सुनवाई दिल्ली की फास्ट ट्रैक कोर्ट में हो सकती है।

Unnao Updates: SC का सभी केस दिल्ली ट्रांसफर करने का आदेश, 45 दिन के भीतर पूरी होगी सुनवाई
X

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में भाजपा के पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर लगे रेप के आरोप के बाद पीड़िता की मां की चिट्ठी पर गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस सुनवाई की। चीफ जस्टिस ने सीबीआई के अधिकारियों को 12 बजे तक कोर्ट को कहा था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राज्स सरकार रेप पीड़िता, उसके परिवार को मुआवजा देना चाहिए। राज्य को मुआवजा देने का निर्देश देगा।

लाइव अपडेट-

सीजेआई गोगोई ने कहा कि उन्नाव मामले में सात दिनों के भीतर पूरी होने वाली जांच को अपवाद के रूप में एक और सप्ताह का समय लग सकता है लेकिन यह पंद्रह दिन से आगे नहीं बढ़ेगी।

सीजेआई गोगोई ने यह भी कहा कि हम उन्नाव में गांव में पीड़िता, उसके वकील, पीड़िता की मां, पीड़िता के चार भाई-बहनों, उसके चाचा और तत्काल परिवार के सदस्यों को सुरक्षा और संरक्षण देते हैं।


सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा कि हमने पीड़ित को अंतरिम मुआवजे के सवाल पर भी विचार किया है, एक अंतरिम उपाय के रूप में हम यूपी सरकार को पीड़ित को मुआवजे के रूप में 25 लाख रुपये का भुगतान करने का निर्देश देते हैं।


दिल्ली में नामित जज दिन पर दिन (Day to day) मुकदमे की सुनवाई शुरू करेंगे और 45 दिनों के भीतर सुनवाई पूरी करेंगे।



सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश से उन्नाव बलात्कार की घटना से जुड़े सभी मामलों की सुनवाई को दिल्ली स्थानांतरित कर दिया है।



सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि स्थानांतरण याचिका में बताए गए आधार और सीजेआई को लिखे पत्र को ध्यान में रखते हुए हम सभी सीबीआई मामलों को यूपी से दिल्ली स्थानांतरित (Transfer) करने का आदेश देते हैं।

उन्नाव की रेप पीड़िता और उनके वकील को लेकर लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल ने बताया कि उनकी हालत गंभीर है। दोनों वेंटिलेटर पर है लेकिन उनकी हालत कल की तरह स्थिर है। उनका इलाज केजीएमयू के विशेषज्ञों की टीम द्वारा निशुल्क किया जा रहा है।

पीड़िता के दिल्ली लाने पर 2 बजे होगी सुनवाई

सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा कि हम दोपहर 2 बजे फिर सुनवाई करेंगे और सभी पांच मामलों पर केस ट्रांसफर करने और पीड़िता और उसके वकील को मेडिकल ध्यान देने का आदेश पारित करेंगे। डॉक्टर सबसे अच्छे न्यायाधीश हैं, वे यह तय कर सकते हैं कि क्या उसे और उसके वकील को दिल्ली लाया जा सकता है।

पांच मामलों पर सुप्रीम कोर्ट का संज्ञान

12 बजे सीबीआई की ज्वाइंट डायरेक्टर संपत मीणा सुप्रीम कोर्ट पहुंची। जिसके बाद कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई। सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि दिल्ली की फास्ट ट्रैक कोर्ट में अब उन्नाव केस की सुनावई शुरू होगी। कोर्ट ने इस केस से जुड़े 5 मामलों पर भी संज्ञान ले लिया है।

7 दिन में सीबीआई से मांगी पूरी रिपोर्ट

वहीं सीबीआई से कोर्ट ने कहा कि 7 दिन के अंदर पूरे मामले की रिपोर्ट दें। इससे पहले कोर्ट में सीबीआई ने एक महीने का समय मांगा लेकिन सीजेआई ने अधिक समय देने से मना कर दिया। कोर्ट ने पूछा कि पीड़िता की हालत कैसी है। जिस दौरान कोर्ट ने कहा कि अगर ईलाज सही नहीं हो रहा है तो पीड़िता को दिल्ली शिफ्ट किया जाए।

पिता की मौत पर भी मांगी सीबीआई से रिपोर्ट

2 बजे तक पीड़िता के ट्रिटमेंट की रिपोर्ट मांगी है। पीड़िता के पिता की मौत को लेकर भी कोर्ट ने सवाल पूछे हैं और सीबीआई से रिपोर्ट मांगी है। एएनआई के मुताबिक, उन्नाव रेप केस मामले पर कोर्ट ने स्टेटस रिपोर्ट के लिए आज दोपहर 12 बजे तक जिम्मेदार CBI अधिकारी को तलब किया है। सीजेआई रंजन गोगोई भी मामले में स्थिति के बारे में जांच का पूरा विवरण चाहते हैं। कोर्ट ने इस मामले में ट्रायल ट्रांसफर करने को कह है।

भाजपा ने की कुलदीप सेंगर पर कार्रवाई, तीन पुलिसकर्मी भी सस्पेंड

इस मामले में तीन पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। तीनों पर आरोप है कि जब पीड़िता का एक्सीडेंट हुआ तब ये तीनों पुलिसकर्मी परिवार के साथ मौजूद नहीं थे। वहीं दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी ने कुलदीप सिंह सेंगर को पार्टी से बाहर निकाल दिया है।

सुनवाई से पहले सीजेआई ने दिए ये आदेश

वहीं आगे भारत के मुख्य न्यायाधीश ने सॉलिसिटर जनरल को भी बलात्कार और सड़क दुर्घटना के बारे में केंद्रीय जांच ब्यूरो के निदेशक के साथ बातचीत करने के लिए कहा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि यदि आवश्यक हुआ तो चैंबर सुनवाई हो सकती है।

कोर्ट के आदेश के बाद उन्नाव बलात्कार और दुर्घटना मामले पर सॉलिसिटर जनरल टी मेहता ने चीफ जस्टिस को जानकारी दी है कि उन्होंने सीबीआई के निदेशक अधिकारियों के साथ बात की थी कि मामले की जांच लखनऊ में है और उनके लिए 12 बजे तक दिल्ली पहुंचना संभव नहीं होगा।

जिसके बाद उन्होंने कोर्ट से पूछा कि क्या इसे कल लिया जा सकता है, सीजेआई ने कल के लिए मामले को स्थगित करने से इनकार कर दिया। बता दें कि नाबालिग लड़की ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर दो साल पहले यौन शोषण का आरोप लगाया था। जो अभी जेल में बंद है।

सुप्रीम कोर्ट ने पीड़िता की मां की चिट्टी पर की सुनवाई

कोर्ट ने पीड़िता और उसके परिवार द्वारा भारत के मुख्य न्यायाधीश एक पत्र लिखा था। जो उन्हें मिली धमकियों के बारे में और केस ट्रांसफर को लेकर लिखी गई थी। यह सुनवाई चार दिन बाद होगी जब कार दुर्घटना में पीड़िता गंभीर रूप से घायल हो गई थी। परिवार ने आरोप लगाया है कि दुर्घटना के पीछे भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर और उनके लोग थे।

वहीं दूसीर तरफ चीफ जस्टिस ने पत्र रखने में देरी पर बुधवार को सुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री से एक रिपोर्ट मांगी है। शीर्ष अदालत की रजिस्ट्री को पत्र का विवरण प्रस्तुत करने के लिए कहा है। सीजेआई ने कहा कि उन्हें मंगलवार तक परिवार के पत्र के बारे में सूचित नहीं किया गया था।

बीते रविवार को रेप पीड़िता, वकील और मां-चाची उन्नाव से रायबरेली जा रहे थे। तभी उनकी कार की ट्रक से टक्कर हो गई। बता दें कि 2017 में नाबालिक लड़की ने भाजपा विधायक द्वारा यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज करवाया था। जब वह नौकरी की तलाश कर रही थी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story