Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मुकुल रॉय की Z सुरक्षा वापस ली, केंद्र को पत्र लिखकर की थी ये मांग

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनने के बाद मुकुल रॉय को सीआरपीएफ की निम्न श्रेणी वाई प्लस केंद्रीय सुरक्षा कवर दिया गया था। हालांकि साल 2020 के पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले सुरक्षा कवर को 'जेड' श्रेणी में अपग्रेड कर दिया गया था।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मुकुल रॉय की Z सुरक्षा वापस ली, केंद्र को पत्र लिखकर की थी ये मांग
X

पश्चिम बंगाल चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस को छोड़कर बीजेपी में शामिल होने वाले मुकुल रॉय ने फिर से टीएमसी का दामन थाम लिया है। अब उनसे केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जेड श्रेणी की सुरक्षा वापस ले ली है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सरकारी सूत्रों ने बताया है कि गृह मंत्रालय ने मुकुल रॉय की 'जेड' श्रेणी की सुरक्षा वापस ले ली है, जिन्होंने हाल ही में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) छोड़ दी और ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) में फिर से शामिल हो गए।

सूत्रों के मुताबिक सुरक्षा वापस लेने का आदेश कल जारी किया गया था। कहा गया था कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) सुरक्षा वापस लेने की प्रक्रिया में है। कृष्णानगर उत्तर निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार के रूप में विधानसभा चुनाव जीतने वाले 67 वर्षीय रॉय ने कथित तौर पर केंद्र को एक पत्र लिखकर सुरक्षा कवर वापस लेने की मांग की थी।

सुरक्षा कवर को 'जेड' श्रेणी में अपग्रेड कर दिया गया था

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनने के बाद मुकुल रॉय को सीआरपीएफ की निम्न श्रेणी वाई प्लस केंद्रीय सुरक्षा कवर दिया गया था। हालांकि साल 2020 के पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले सुरक्षा कवर को 'जेड' श्रेणी में अपग्रेड कर दिया गया था। तीन शिफ्ट में मुकुल रॉय की सुरक्षा के लिए कुल 33 सीआरपीएफ जवान तैनात थे।

भाजपा के 25 विधायक और 2 सांसद जल्द ही टीएमसी में शामिल होंगे

बता दें कि बीते हफ्ते मुकुल रॉय के बेटे शुभ्रांशु राय की वाई प्लस सुरक्षा वापस ले ली गई थी। दोनों पिता-पुत्र को अब पश्चिम बंगाल पुलिस द्वारा सुरक्षा प्रदान की जा रही है। इस बीच, मुकुल रॉय के बेटे ने दावा किया कि भाजपा के 25 विधायक और 2 सांसद जल्द ही टीएमसी में शामिल होंगे।

Next Story