Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने संभाला WHO के एग्जीक्यूटिव बोर्ड के चेयरमैन का पद, विदेशों में फंसे ओसीआई को भारत आने की मंजूरी

भारत में कोरोना वायरस के मामले दिनों दिन लगातार तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। इसी बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के एग्जीक्यूटिव बोर्ड के चेयरमैन का पद संभाल लिया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने संभाला WHO के एग्जीक्यूटिव बोर्ड के चेयरमैन का पद, विदेशों में फंसे ओसीआई को भारत आने की मंजूरी

भारत में कोरोना वायरस के मामले दिनों दिन लगातार तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। इसी बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के एग्जीक्यूटिव बोर्ड के चेयरमैन का पद संभाल लिया है। तो वहीं दूसरी तरफ गृह मंत्रालय ने विदेशों में फंसे ओवरसीज सिटीजन ऑफ इंडिया को भारत आने की मंजूरी दे दी है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, भारत के केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन को विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक्जीक्यूटिव बोर्ड का चेयरमैन नियुक्त किया गया था। जिसके बाद शुक्रवार को हर्षवर्धन ने चेयरमैन का पद संभाला है।

वहीं दूसरी तरफ भारत में अब तक कोरोनसंक्रमितो की संख्या 1,19,000 पहुंच गई है। अब तक देश के 26 राज्य और 7 केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोना का कहर बना हुआ है। जिसमें से 5 राज्य सबसे ज्यादा प्रभावित बताए जा रहे हैं। तो वहीं महाराष्ट्र में अभी भी कोरोनसंक्रमितो की संख्या सबसे ज्यादा है। इसके अलावा तमिलनाडु, दिल्ली, राजस्थान और गुजरात में भी संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है।

वहीं दूसरी तरफ वंदे मातरम अभियान के तहत विदेशों से छात्रों और नागरिकों को भारत लाया जा रहा है। शुक्रवार को गृह मंत्रालय ने ओवरसीज सिटीजन ऑफ इंडिया के तहत आने वाले लोगों को भारत आने की मंजूरी दी तो वही उनके साथ कई शर्ते रखी गई है। गृह मंत्रालय ने बताया कि ओसीआई कार्ड धारकों के विदेश में जन्मे बच्चों को आने की मंजूरी दी जाएगी।

साथ ही जिनके परिवार में कोई इमरजेंसी किसी की मृत्यु न हो इसके अलावा जिनके पास ओसीआई कार्ड हो और दोनों का भारत में स्थाई पता हो। ऐसे छात्रों को भारत आने की मंजूरी दी जाएगी। लेकिन इन सभी को सबसे पहले अपना कोरोना टेस्ट करवाना होगा। टेस्टिंग के बाद इन्हें भारत लाया जाएगा और उसके बाद यहां भी स्क्रीन टेस्टिंग और 14 दिन के लिए क्वारंटाइन किया जाएगा।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों ने बताया कि देश में अब तक एक लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके है। जिसमें से अब तक 45000 लोग ठीक हो चुके हैं तो 66000 लोगों का अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। कोरोना संक्रमण की वजह से अब तक 3583 लोगों की मौत हो चुकी है। सबसे ज्यादा संक्रमण महाराष्ट्र में फैल रहा है। वहीं दूसरी तरफ दिल्ली के सभी जिले रेड जोन में आ चुके हैं।

Next Story
Top