Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मनमोहन सिंह ने दिया था सबसे लंबा बजट भाषण, जानिए निर्मला सीतारमण ने कितनी देर में निपटा दिया

केंद्र की मोदी सरकार-2 का पहला बजट संसद में पेश किया जा रहा है। इस बजट को देश की पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारण पेश कर रही हैं। देश की आजादी के बाद से संसद में 88 केंद्रीय बजट पेश किए जा चुके हैं। हालांकि अब तक का सबसे छोटा बजट भाषण वित्तमंत्री रहते हुए एचएम पटेल (1977) ने पेश किया था।

मनमोहन सिंह ने दिया था सबसे लंबा बजट भाषण, जानिए आम बजट से जुड़ी बड़ी बातेंमनमोहन सिंह ने दिया था सबसे लंबा बजट भाषण, जानिए निर्मला सीतारमण ने कितनी देर में निपटा दिया

केंद्र की मोदी सरकार-2 का पहला बजट संसद में पेश किया गया। इस बजट को देश की पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारण ने 2 घंटे में पेश किया। देश की आजादी के बाद से संसद में 88 केंद्रीय बजट पेश किए जा चुके हैं। हालांकि अब तक का सबसे छोटा बजट भाषण वित्तमंत्री रहते हुए एचएम पटेल (1977) ने पेश किया था। जबकि सबसे लंबा बजट भाषण देने का रिकॉर्ड पूर्व प्रधानमंत्री और तत्कालीन वित्तमंत्री मनमोहन सिंह (1991) के नाम है। पटेल ने जहां मात्र 800 शब्दो का बजट भाषण दिया था वहीं मनमोहन सिंह ने 18,177 शब्दों का सबसे लंबा बजट भाषण दिया था। आइए जानते हैं बजट से जुड़ी अहम बातें-

स्वतंत्र भारत का पहला केंद्रीय बजट 15 अगस्त 1947 से 31 मार्च 1948 तक के लिए पेश किया गया था। भारत-पाकिस्तान विभाजन के चल यह बजट समय पर नियोजित नहीं हो सका था। इसके बाद 26 नवंबर 1947 को तत्कालीन वित्त मंत्री आरके शनमुखम चेट्टी ने पहला बजट पेश किया।

निर्मला सीतारमण देश की पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री बनी हैं जबकि इससे पहले इंदिरा गांधी ने भी वित्त मंत्री का पदभार संभाला था लेकिन इंदिरा गांधी ने प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए वित्त मंत्री (1970) का भी जिम्मा संभाला था। इंदिरा गांधी की ही तरह जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी भी प्रधानमंत्री रहते हुए वित्त मंत्री का जिम्मा संभाल चुके हैं।

वहीं सबसे लंबा बजट भाषण देने का रिकॉर्ड मनमोहन सिंह के नाम है। इसके बाद अरूण जेटली ने 2015, 2016 और 2017 में लंबा बजट भाषण दिया। जबकि वित्त मंत्री रहते हुए जसवंत सिंह ने सबसे ज्यादा समय (2 घंटे 13 मिनट) लिया था।

जबकि सीडी देशमुख पहले ऐसे वित्त मंत्री रहे जो रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया में गवर्नर भी रहे। उन्होंने 1991 में बजट पेश किया था। जबकि आर. वेंकटरमन और प्रणब मुखर्जी दो ऐसे वित्त मंत्री रहे जो आगे चलकर भारत राष्ट्रपति रहे।

आर वेंकटमन और प्रणब मुखर्जी दो ऐसे वित्तमंत्री हैं जो आगे चलकर भारत के राष्ट्रपति भी बने। इसके अलावा सीडी देशमुख रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के पहले गवर्नर थे, जो बाद में वित्तमंत्री बने। उन्होंने 1991 में देश का बजट पेश किया था।

Share it
Top