Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Budget 2019 : कुछ इस तरह से शुरू हुआ रेल बजट का कारवां, जानें इसे जुड़े रोचक तथ्य

Union Budget 2019 (आम बजट 2019): मोदी सरकार (Modi Government) के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट 5 जुलाई 2019 (5 July 201) को संसद में पेश किया जाएगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) वित्तवर्ष 2019-20 का बजट पेश करेंगी। आम बजट (Union Budget) के साथ रेल बजट (Rail Budget) भी पेश किया जाएगा।

Union Budget 2019 Rail Budget 2019Union Budget 2019 Rail Budget 2019

Union Budget 2019 (आम बजट 2019): मोदी सरकार (Modi Government) के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट 5 जुलाई 2019 (5 July 201) को संसद में पेश किया जाएगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) वित्तवर्ष 2019-20 का बजट पेश करेंगी। आम बजट (Union Budget) के साथ रेल बजट (Rail Budget) भी पेश किया जाएगा। रेल बजट 2017-18 में आम बजट के साथ पेश किया गया था, इसके के साथ 92 से चली आ रही परंपरा भी समाप्त हो गई। संसद सत्र के मद्देनजर हम आपको भारत के रेल बजट के ऐसे ही अनछुए पहलुओं से अवगत कराने जा रहे हैं, जिन्हें बहुत कम ही लोग जानते हैं।

भारत का पहला रेल बजट

भारत (India) का पहला रेल बजट 1924 में ब्रिटिश शासन (British Rule) के समय पेश किया गया था। यह पहला पृथक (भिन्न) रेल बजट था। इससे पहले आम बजट के साथ ही रेल बजट पेश किया जाता था। लेकिन 1920-21 में एक्वर्थ कमेटी (Aquarth Committee) ने रेल बजट को आम बजट से अलग से पेश करने की रिपोर्ट को सौंपकर वित्तिय मामलों को अलग से देखे जाने की बात कही थी। रिपोर्ट के बाद 1924 में पहली बार रेल बजट केंद्रीय विधान सभा (Central Legislative Assembly) में पेश किया गया, जो आजादी के बाद से 2016-17 तक चलन में रहा था, मोदी सरकार (Modi Governmet) ने पुरानी परंपरा खत्म करते हुए आम बजट 2017-18 (Aam Budget 2017-18) के साथ रेल बजट क पेश किया।

पहली बार टीवी पर प्रसारित हुआ था रेल बजट

भारतीय रेल बजट (Indian Railway Budget) को पहली बार टीवी (TV) पर 1994 में प्रसारित किया गया था।

ममता बनर्जी बनी पहली महिला रेल मंत्री

जानकारी के लिए आपको बता दें कि ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को देश की पहली महिला रेलमंत्री (First Woman Railway Minister) के रूप में जाना जाता है। ममता बनर्जी 2000 में देश की रेल मंत्री बनी थी। वर्तमान में ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री हैं।

लालू प्रसाद यादव को अच्छे रेलमंत्री के रूप जाना जाता है

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव केंद्रीय रेल मंत्री भी रहे हैं। लालू प्रसाद को रेल बजट के इतिहास में एक अच्छे रेल मंत्री के रूप में जाना जाता है। लालू प्रसाद यादव ने लगातार 6 बार रेल बजट पेश किया था और उन्हें भारतीय रेल को फायदे में ला दिया था।

जॉन मथाई बने थे स्वतंत्र भारत के पहले रेल मंत्री

स्वतंत्रता के पहले रेल मंत्री आसिफ अली (Asif Ali) थे। जो 2 सितंबर 1946 से लेकर 14 अगस्त 1947 तक रहे। भारत की स्वतंत्रता के बाद जॉन मथाई (John Mathai) देश के पहले रेलमंत्री बने। वे 15 अगस्त 1947 से 22 सितंबर 1948 तक रेलमंत्री के पद पर रहे।

Share it
Top