Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Union Budget 2019 Live Updates : यहां पढ़ें मोदी सरकार 2.0 का पूरा बजट, जानें पीएम से लेकर अन्य मंत्री और नेताओं ने क्या कहा

Union Budget 2019 केंद्रीय वित्त-मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) आज यानी 5 जुलाई को मोदी सरकार 2.0 का पहला पूर्ण बजट 2019-20 (Union Budget 2019 2019-2020) संसद में पेश कर दिया है। उन्होंने 2 घंटे 15 मिनट तक संसद में लोकसभा स्पीकर के सामने अपना पूरा भाषण दिया।

Union Budget 2019 Live Updates : महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारण पेश कर रहीं पहलाUnion Budget 2019 Live Updates Women Finance Minister Nirmala Nirmala Sitharan presenting budget

Budget 2019 Highlights

  • केंद्रीय वित्त-मंत्री निर्मला सीतारमण वित्त वर्ष 2019-20 के लिए आज 5 जुलाई 2019 को पूर्ण बजट पेश कर दिया है।
  • मोदी सरकार 2.0 से किसानों, आम आदमी, बड़े-छोटे व्यापारी, शिक्षा, स्वास्थ्य और बैंकिंग सेक्टर में बड़ा ऐलान
  • वित्त वर्ष 2019-20 के बजट में लग्जरी कार, लैपटॉप, मोबाइल, शराब, सिगरेट, गुटका, पान मसाला महंगा हो सकता है।
  • लोकसभा चुनाव में बम्पर जीत से टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं
  • विनिवेश का लक्ष्य 2019-20 के अंतरिम बजट में 90000 हजार करोड़ रुपये रखा गया था।

Budget 2019 Live Updates

Union Budget 2019 केंद्रीय वित्त-मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) आज यानी 5 जुलाई को मोदी सरकार 2.0 का पहला पूर्ण बजट 2019-20 (Union Budget 2019 2019-2020) संसद में पेश कर दिया है। उन्होंने 2 घंटे 15 मिनट तक संसद में लोकसभा स्पीकर के सामने अपना पूरा भाषण दिया। इस साल राजकोषीय घाटा 3.3 फीसदी से 3.4 फीसदी से नीचे लाया गया।

आगे बातचीत करते हुए कहा कि इसने स्टार्टअप, जॉब क्रिएशन, मेक इन इंडिया को भारी बल दिया है। इसने व्यापारियों को पेंशन दी है, समुदाय का बड़ा हिस्सा जो सामाजिक सुरक्षा नेटवर्क से बचा हुआ था। यह बहुत सुधार-उन्मुख है। तो यह 130 करोड़ भारतीयों का बजट है।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि सभी के लिए बजट है। इसमें उन मुद्दों को संबोधित किया गया है जो गरीब, मध्यम वर्ग के लिए जीवन जीने में आसानी बनाएंगे। इसने बड़े पैमाने पर बुनियादी ढाँचे के विकास को सुनिश्चित किया है जिसने 130 करोड़ भारतीयों, अमीर या गरीबों के लिए जीवन यापन आसान बना दिया है।

पीयूष गोयल ने कांग्रेस पर तंज करते हुए कहा कि हमारा ट्रैक रिकॉर्ड यह है कि हमने पिछले 5 वर्षों के लिए हर एक बजट पर अच्छा प्रदर्शन किया है। कांग्रेस ने वादा किया कि कोई भी खरीदने को तैयार नहीं है, क्योंकि वे सिर्फ शेख चिल्ली की कहानी, हवा में सपने देखते हैं कि किसी को भरोसा नहीं हुआ। मुझे लगता है कि लोगों का फैसला बाहर है। मैं केवल इतना कह सकता हूं कि कांग्रेस असभ्य, नेताहीन और असहाय लगती है।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बजट को लेकर कहा कि वित्त मंत्री रेलवे के लिए पहले से ही बहुत सौम्य रहे हैं। उन्होंने अगले 10 वर्षों में लगभग 50 लाख करोड़ रुपये के निवेश का लक्ष्य रखा है। मैं वास्तव में रेलवे के संकल्प को मजबूत करने के लिए वित्त मंत्री को धन्यवाद देना चाहता हूं।


नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने यह बजट बहुत ही रास्ता तोड़ने वाला है। यह बहुत व्यापक बजट है। हम विशेष रूप से प्रसन्न हैं। क्योंकि वित्त मंत्री ने नीति की भूमिका को स्वीकार किया है। लेकिन अधिक महत्वपूर्ण रोड मैप है, जो उसने 5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था के लिए एक दृष्टि बिछाने के लिए निर्धारित किया गया है।


बजट के बाद पीएम मोदी ने कहा कि यह बजट हर वर्ग के लिए बेहतर है। बजट से युवाओं, बेरोजगारों, कारोबारी, शिक्षा के बेहतर अवसर मिलेंगे। पीएम मोदी ने इस बजट को ग्रीन बजट बताया। देश में विकास की गति चल रहे हैं और अपने लक्ष्य को पूरा करने में काम कर रहे हैं। यह बजट नया मार्ग निर्देशत करेगा। बजट देश की आकांक्षाओं को पूरा करेगा। यह बजट न्यू इंडिया के लिए बेहतर होगा। आने वाले 5 सालों में देश अपने लक्ष्य को प्राप्त करेगी। अंत में पीएम मोदी ने बजट की तारीफ करते हुए वित्त मंत्री और उनकी टीम को बधाई दी है।

लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि नया कुछ नहीं, पुराने वादों की पुनरावृत्ति। वे नए भारत के बारे में बात कर रहे हैं लेकिन बजट एक नई बोतल में पुरानी शराब है। कोई नई बात नहीं, रोजगार सृजन की कोई योजना नहीं, कोई नई पहल नहीं।

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने बजट पर रिएक्शन देते हुए कहा कि यह आजादी के बाद पहली बार है कि किसी पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री ने केंद्रीय बजट पेश किया है। मैं उसे बधाई देना चाहता हूं। बजट देश के लोगों की उम्मीदों को पूरा करता है।


बजट पेश होने के बाद शयर बाजार हुआ डाउन, सेंसेक्स 39,573.45 से 334.61 अंकों की गिरावट के साथ दर्ज किया गया।


निर्मला सीतारमण ने किफायती आवास को और गति प्रदान करने के लिए 45 लाख रुपये तक के घर की खरीद के लिए 31 मार्च 2020 तक उधार लिए गए ऋण पर दिए गए ब्याज पर 1.5 लाख रुपये की अतिरिक्त कटौती होगी। सोने और अन्य कीमती धातुओं पर कस्टम ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 12.5 फीसदी करने का भी प्रस्ताव है।

आगे कहा कि मैं पेट्रोल और डीजल पर विशेष अतिरिक्त उत्पाद शुल्क और सड़क और बुनियादी ढांचा उपकर 1 रुपये प्रति लीटर बढ़ाने का प्रस्ताव करती हूं।

निर्मला सीतारमण ने कहा कि 400 करोड़ का सालाना कारोबार करने वाली सभी कंपनियां अब 25 फीसदी के दायरे में होंगी। यह सभी कंपनियों के 99.3 फीसदी को कवर करेगा।

उन्होंने कहा कि टैक्स मुद्दे को हल करने के लिए, स्टार्टअप और उनके निवेशक जो अपने रिटर्न में अपेक्षित घोषणाएं करते हैं और जानकारी प्रदान करते हैं, शेयर प्रीमियम के मूल्यांकन के संबंध में किसी भी प्रकार की जांच के अधीन नहीं होंगे। वर्तमान में स्टार्टअप्स को श्रेणी 1 वैकल्पिक निवेश फंड सहित कुछ निवेशकों को जारी किए गए अपने शेयरों के उचित बाजार मूल्य को सही ठहराने की आवश्यकता नहीं है। मैं इस लाभ को श्रेणी 2 वैकल्पिक निवेश कोष में भी विस्तारित करने का प्रस्ताव करता हूं।

सीतारमण ने कहा कि नकद में व्यवसायिक भुगतान करने की प्रथा को हतोत्साहित करने के लिए मैं एक बैंक खाते से एक वर्ष में एक करोड़ रुपये से अधिक की नकद निकासी पर 2 फीसदी का टीडीएस लगाने का प्रस्ताव रखती हूं।

वित्त मंत्री निर्मला सीताराम ने कहा कि चुनिंदा केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उद्यमों का रणनीतिक विनिवेश प्राथमिकता के रूप में जारी रहेगा। एयर इंडिया का रणनीतिक विनिवेश फिर से शुरू होगा। 2019-20 के लिए 1 लाख 5 हजार रुपये का विनिवेश लक्ष्य है।

उन्होंने कहा कि 120 करोड़ से अधिक भारतीयों के पास अब आधार कार्ड है, इसलिए करदाताओं की आसानी के लिए मैं पैन कार्ड और आधार कार्ड को विनिमेय बनाने का प्रस्ताव रखती हूं और जिनके पास पैन नहीं है, वे केवल आधार नंबर का उपयोग करके रिटर्न दाखिल करने की अनुमति होगी और वे जो भी उपयोग करते हैं उन्हें पैन का उपयोग करने की आवश्यकता है।

निर्मला सीतारमण ने कहा कि प्रत्यक्ष कर संग्रह में 78 फीसदी की वृद्धि, 2013-14 में कर संग्रह 6.38 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 2018 में 11.37 लाख करोड़ रुपये हुई।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि दृष्टिबाधितों के लिए आसानी से पहचाने जाने वालों के लिए 1, 2 रुपये, 5 रुपये, 10 रुपये, 20 रुपये के सिक्कों की एक नई श्रृंखला 7 मार्च 2019 को पीएम द्वारा जारी की गई। इन सिक्कों को सार्वजनिक उपयोग के लिए जल्द ही उपलब्ध कराया जाएगा।

निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों (EV) पर जीएसटी दर को 12 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी करने के लिए GST परिषद को पहले ही स्थानांतरित कर दिया है। ईवीएस उपभोक्ताओं के लिए सस्ती करने के लिए, हमारी सरकार ईवीएस खरीदने के लिए लिए गए ऋण पर दिए गए ब्याज पर 1.5 लाख रुपये की अतिरिक्त आयकर कटौती प्रदान करेगी।

सरकार गैर-वित्तीय सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में विनिवेश की नीति का पालन कर रही है, सरकार की हिस्सेदारी 51 फीसदी से नीचे नहीं जाने देने के लिए काम कर रहे हैं। सरकार इस पर विचार कर रही है, जहां उपक्रम को अभी भी सरकार के नियंत्रण में रखा जाना है।

उन्होंने आगे कहा कि भारत का सकल घरेलू उत्पाद जीडीपी में 5 फीसदी से कम वैश्विक स्तर पर सबसे कम रहा है। सरकार बाहरी बाजारों में अपने सकल उधार कार्यक्रम का एक हिस्सा बाहरी बाजारों में शुरू करेगी।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि महिला उद्यमिता को प्रोत्साहित करने के लिए महिला स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) भारत में सभी जिलों में विस्तारित करने के लिए ब्याज निवारण कार्यक्रम शुरू करने जा रहे हैं।

निर्मला सीतारमण ने बताया कि सकारात्मक गांधीवादी मूल्यों के बारे में युवाओं को जागरूक करने के लिए 'गांधी पीडिया' विकसित की जा रही है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि पिछले चार वर्षों में गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (एनपीए) 4 लाख करोड़ रुपये की वसूली, पिछले एक साल में एनपीए 1 लाख करोड़ रुपये कम रहा है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि मैं गैर-निवासी भारतीयों (एनआरआई) के लिए आधार कार्ड जारी करने पर विचार करने का प्रस्ताव करती हूं, जो कि भारतीय पासपोर्ट के साथ अनिवार्य रूप से 180 दिनों तक इंतजार किए बिना भारत में आते हैं।

बजट पेश करने के दौरान शेयर बाजार में आई गिरावट, वर्तमान में सेंसेक्स 118.99 अंकों की गिरावट के साथ 39,788.65 पर बंद।

वित्त मंत्री ने कहा कि PMAY (शहरी) के तहत लगभग 4.83 लाख करोड़ रुपये के निवेश के साथ 81 लाख से अधिक घरों को मंजूरी दे दी गई है, जिसमें से लगभग 47 लाख घरों में निर्माण शुरू हो गया है। 26 लाख से अधिक घरों का निर्माण पूरा हो चुका है, जिनमें से लगभग 24 लाख घरों को लाभार्थियों को वितरित किया गया है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि मैं भारत की महिलाओं का ध्यान आकर्षित करती हूँ, 'नारी तू नारायणी'। इस सरकार का मानना है कि हम अधिक से अधिक महिलाओं की भागीदारी के साथ प्रगति कर सकते हैं।

आगे कहा कि खुश और संतुष्ट हैं कि भारत को पीएम मोदी के सपने के मुताबिक, 2 अक्टूबर 2019 को खुले में शौच मुक्त बनाया जाएगा।

बही खाता के दौरान वित्त मंत्री ने कहा कि भारत की जल सुरक्षा सुनिश्चित करना और सभी भारतीयों को सुरक्षित पेयजल उपलब्ध करना सरकार की प्राथमिकता है। इस दिशा में एक बड़ा कदम जल शक्ति मंत्रालय का गठन रहा है। यह नया मंत्रालय हमारे जल संसाधनों और जल आपूर्ति के एमजीएमटी को एकीकृत और समग्र रूप से देखेगा और राज्यों के साथ 'जल जीवन मिशन' के तहत 2024 तक सभी ग्रामीण परिवारों को 'हर घर जल' सुनिश्चित करने के लिए काम करेगा।

निर्मला सीतारमण ने बताया कि अनिवासी भारतीयों (एनआरआई) को भारतीय इक्विटी तक सहज पहुंच प्रदान करने के लिए, एनआरआई पोर्टफोलियो निवेश मार्ग को विदेशी पोर्टफोलियो निवेश मार्ग के साथ जोड़ा जाएगा।

सीतारमण ने कहा कि 9.6 करोड़ शौचालय का निर्माण अक्टूबर 2, 2014 से किया गया है। 5.6 लाख से अधिक गाँव खुले में शौच मुक्त हो गए हैं। हमें इस सफलता पर निर्माण करना है। मैं प्रत्येक गाँव में स्थायी विक्रय अपशिष्ट प्रबंधन करने के लिए स्वच्छ भारत मिशन का विस्तार करने का प्रस्ताव करती हूं।

आगे कहा कि हम कृषि के बुनियादी ढांचे में व्यापक रूप से निवेश करेंगे। हम किसानों की उपज के अलावा ड्राइविंग गतिविधियों में प्राट उद्यमिता का समर्थन करेंगे और जो सहयोगी गतिविधियों से भी होगा, जैसे बांस, लकड़ी और नवीकरणीय ऊर्जा पैदा करने के लिए भी।

निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारत एक प्रमुख अंतरिक्ष शक्ति के रूप में उभरा है। यह व्यावसायिक रूप से हमारी क्षमता का दोहन करने का समय है। व्यावसायिक रूप से भारत की अंतरिक्ष क्षमता का दोहन करने के लिए एक सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम, न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड (NSIL) को इसरो के लाभों का दोहन करने के लिए शामिल किया गया है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि बदलते आर्थिक परिदृश्य के साथ गांवों को ग्रामीण बाजारों से जोड़ने वाली सड़कों का उन्नयन करना महत्वपूर्ण है। इसके लिए प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना चरण 3 में अगले 5 वर्षों में 1,25,000 किलोमीटर सड़क की लंबाई बढ़ाने की योजना है।

आगे कहा कि FAME II योजना का उद्देश्य सही प्रोत्साहन और चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर द्वारा इलेक्ट्रिक वाहनों को तेजी से अपनाना है। सूचीबद्ध कंपनियों में न्यूनतम सार्वजनिक हिस्सेदारी बढ़ाने पर विचार करने का यह सही समय है, मैंने सेबी को 25 फीसदी से 35 फीसदी की वर्तमान सीमा बढ़ाने पर विचार करने के लिए कहा है।

बही खाता में वित्त मंत्री ने कहा कि कॉरपोरेट ऋण प्रतिभूतियों में कॉरपोरेट ट्राई-पार्टी रेपो बाजार को गहरा करने के लिए, सरकार नियामकों आरबीआई और सेबी के साथ मिलकर ए रेटेड बॉन्ड को कोलेटरल की अनुमति देने के लिए स्टॉक एक्सचेंजों को सक्षम करने के लिए काम करेगी।

वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार सभी हितधारकों के परामर्श से विमानन क्षेत्र, मीडिया, एनीमेशन AVGC और बीमा क्षेत्रों में FDI खोलने के लिए सुझाव आमंत्रित करेगी। बीमा बिचौलियों के लिए 100 फीसदी एफडीआई की अनुमति होगी।

निर्मला सीतारमण ने कहा कि ताजा या वृद्धिशील ऋणों पर सभी जीएसटी-पंजीकृत एमएसएमई के लिए 2 फीसदी ब्याज के लिए आवंटित 350 करोड़ रुपये। रुपये से कम टर्नओवर वाले दुकानदारों और खुदरा विक्रेताओं के लिए पेंशन होगी। प्रधानमंत्री कर्म योगी मान धन योजना के तहत लॉन्च किए जाएगी। जिसका लाख करोडो़ं लोगो को मिलेगा।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि रेलवे के बुनियादी ढांचे को 2018 और 2030 के बीच 50 लाख करोड़ रुपये के निवेश की आवश्यकता होगी। पीपीपी का उपयोग तेजी से विकास और यात्री माल सेवाओं की डिलीवरी के लिए किया जाएगा। इसमें नीजिकरण को और बढ़ाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि DISCOMs वित्तीय और ऑप टर्नअराउंड के लिए UDAY'15 लॉन्च किया। हम प्रदर्शन की जांच कर रहे हैं और इसमें सुधार किया जाएगा। हम बाधाओं, क्रॉस सब्सिडी, सरचार्ज, खुली पहुंच बिक्री पर अवांछनीय कर्तव्यों या औद्योगिक और थोक बिजली उपभोक्ताओं के लिए कैप्टिव जेनरेशन को हटाने के लिए राज्य सरकार के साथ काम करेंगे।

निर्मला सीतारमण ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग कार्यक्रम का व्यापक पुनर्गठन किया जाएगा, ताकि वांछनीय क्षमता की राष्ट्रीय राजमार्ग ग्रिड का निर्माण सुनिश्चित किया जा सके। कार्गो परिवहन के लिए नदियों का उपयोग कर लागू होने वाली ऊर्जा जो सड़कों और रेलवे को भी कम कर देगी।

निर्मला सीतारमण ने कहा कि हम वैध लाभ कमाने पर ध्यान नहीं देते हैं। पॉलिसी पैरालिसिस और लाइसेंस कोटा नियंत्रण किया है। 'इंडिया इंक' भारत के नौकरी निर्माता, राष्ट्र के धन निर्माता हैं। आपसी विश्वास के साथ हम अतीत और निरंतर विकास कर सकते हैं।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि 'भारतमाला', 'सागरमाला' और UDAN जैसी योजनाओं ने ग्रामीण और शहरी बटवारें को कम किया। हमारे परिवहन के ढांचे में सुधार हो रहा है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था वर्तमान साल में 3 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था बन जाएगी। यह अब दुनिया में छठा सबसे बड़ा है। 5 साल पहले यह 11 वें स्थान पर था। 1 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था तक पहुंचने में हमें 55 साल से लग गए। लेकिन जब दिल आशा, विश्वास और आकांक्षा से भर जाता है, तो हम केवल 5 वर्षों में 1 ट्रिलियन से जुड़ जाते हैं

बही खाता पेश करते हुए वित्त मंत्री ने उर्दू में शायरी पढ़ते हुए कहा कि यकीन हो तो कोई रास्ता निकलता है, हवा की ओट भी लेकर चिराग जलते हैं।

लोकसभा में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली एनडीए सरकार का पहला कार्यकाल एक प्रदर्शन के तौर पर सामने आया। 2014-2019 के बीच उन्होंने एक कायाकल्प केंद्र-राज्य गतिशीलता, सहकारी संघवाद, जीएसटी परिषद और राजकोषीय अनुशासन के लिए स्पष्ट प्रतिबद्धता प्रदान की।

निर्मला सीतारमण ने सबसे पहले जनता का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार अगले 5 सालों में जीडीपी को 5 मिनलिय तक पहुंचाएगी। बजट में न्यू इंडिया पर जोर दिया। उन्होंने एक कहावत सुनाकर कहा कि यकीन हो तो रास्ता निकलता है। खाद् सुरक्षा पर खर्च दोगुना किया जाएगा। देश का हर व्यक्ति बदलाव महसूस कर रहा है। आज लोग मेक इन इंडिया को समझते हैं।

महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अपना पहला बजट पेश कर रही हैं। उन्होंने सबसे पहले लोकसभा स्पीकर को संबोधित किया और फिर अपना बही-खाता शुरू कर दिया।

संसद में लोकसभा की कार्यवाही शुरू

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के माता-पिता, परिवार सदस्य सावित्री और नारायणन सीतारमण संसद में पहुंचे। वह अपना पहला बजट सुबह 11 बजे लोकसभा में पेश करेंगी।

संसद भवन में मोदी कैबिनेट की बैठक जारी, थोड़ी देर में वित्त मंत्री करेंगी बहीखाता पेश

बजट से जुड़ी कॉपियां संसद भवन पहुंच गई हैं।

राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद संसद भवन पहुंची वित्त मंत्री और उनकी टीम, कैबिनेट की मंजूरी के बाद पेश होगा 'बहीखाता'

मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम ने कहा कि इस बार संसद में बजट नहीं बहीखाता पेश होगा। आजादी के बाद यह पहले बहीखाता होगा।

राष्ट्रपति भवन में बजट पेश करने से पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की

Next Story
Share it
Top