Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Union Budget 2019 Highlights : मोदी सरकार-2 ने शुरू की आम बजट 2019 की तैयारी, क्या मध्यम वर्ग को टैक्स में मिल सकती है छूट

केंद्र में पीएम मोदी (PM Modi) के नेतृत्व में एक बार फिर से सरकार बनने के बाद पीएम मोदी की कैबिनेट (Modi Cabinet) अब देश का आम बजट (Budget 2019) तैयार करने में जुट गए हैं। लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) से पहले ही मोदी सरकार (Modi Government) ने मध्यम वर्ग (Middle Class) के लोगों को टैक्स में छूट (Tax Rebate) देने की बात कही थी। देश की आम जनता को अब पीएम मोदी (PM Narendra Modi) के नेतृत्व में बनी नई सरकार से मध्य वर्ग के लोगों को यही उम्मीद है कि वे टैक्स में फिर से कोई नई छूट देंगे। हालांकि सरकार ने इस मामले में कोई आधिकारिक बयान नहीं दी है।

Union Budget 2019 Highlights : मोदी सरकार-2 ने शुरू की आम बजट 2019 की तैयारी, क्या मध्यम वर्ग को टैक्स में मिल सकती है छूट

केंद्र में पीएम मोदी (PM Modi) के नेतृत्व में एक बार फिर से सरकार बनने के बाद पीएम मोदी की कैबिनेट (Modi Cabinet) अब देश का आम बजट (Budget 2019) तैयार करने में जुट गए हैं। लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) से पहले ही मोदी सरकार (Modi Government) ने मध्यम वर्ग (Middle Class) के लोगों को टैक्स में छूट (Tax Rebate) देने की बात कही थी। देश की आम जनता को अब पीएम मोदी (PM Narendra Modi) के नेतृत्व में बनी नई सरकार से मध्य वर्ग के लोगों को यही उम्मीद है कि वे टैक्स में फिर से कोई नई छूट देंगे। हालांकि सरकार ने इस मामले में कोई आधिकारिक बयान नहीं दी है।

Nirmalra SitharamanImage Source : Twitter


3 जून से ही क्वैरंटाइन लागू है

मालूम हो कि मोदी सरकार के अधिकारी आम बजट की तैयारियों में जुट गए हैं। मीडिया सूत्रों के मुताबिक 3 जून से ही गोपनियता बरतते हुए क्वैरंटाइन (Quarantine Mode) लागू कर दी है। इसमें बजट बनाने वाले अधिकारी और कर्मचारी का बाहरी लोगों से संपर्क नहीं होता है। यह पाबंदी बजट पेश होने तक लागू रहती है। बजट पांच जुलाई को पेश होगा। इस दौरान मीडिया व अन्य व्यक्तियों का वित्त मंत्रालय (Ministry of Finance) में आना प्रतिबंधित रहता है।

आर्थिक सुस्ती और कई चुनौतियों के बीच पेश होगा बजट

बता दें कि फरवरी माह में अंतरिम बजट (Interim Budget) पेश किया गया था। उस दौरान सरकार ने सीमित समय के लिए खर्चों की मंजूरी दी थी। मोदी सरकार-2 (Modi Sarkar 2) के गठन होते ही पहली वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Minister of Finance Nirmala Sitharaman) इस बार का बजट पेश (Union Bidget 2019) करेंगी। वित्त मंत्री निर्मला (Nirmala Sitharaman) ऐसे वक्त में बजट पेश करने वाली हैं जब आर्थिक विकास की रफ्तार एकदम सुस्त पड़ गई है हालत ये है कि यह पिछले पांच साल के निचले स्तर पर आ गई है।

इन मुद्दों पर देना होगा ध्यान

नवनिर्वाचित वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) पर सुस्त अर्थव्यवस्था (Slack Economy), बढ़ते कर्ज, रोजगार का गिरता स्तर (Unemployment), निजी क्षेत्र में इन्वेस्ट, आदि मामलों पर ध्यान देना पड़ेगा। इसके साथ ही देश में सूखा का संकट (Drought) भी सामने है, इस दशा में उन वित्त मंत्री पर भारी दबाव होगा। 17 वीं लोकसभा सत्र का पहला सत्र (First session of 17th Lok Sabha) 17 जून से शुरू होकर 26 जुलाई को खत्म होगा।

बजट टीम में ये नेता हैं शामिल

सरकार द्वारा साल 2019-20 की आर्थिक समीक्षा चार जुलाई तक पेश की जाएगी और इसके अगले ही दिन संसद में बजट पेश किया जाएगा। वित्त मंत्री के बजट टीम में वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) और मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम (Krishna Murthy Subramanian) की मौजूदगी रहेगी।

Share it
Top