Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एकनाथ शिंदे को CM बनाने के खिलाफ उद्धव गुट ने खटखटाया SC का दरवाजा, बागी विधायकों को निलंबित करने की मांग की

महाराष्ट्र (Maharashtra) में चल रहा सियासी घमासान (Political turmoil) थमने का नाम नहीं ले रहा हैं। इसी बीच एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) की नई सरकार बनने के बाद अब उद्धव (Uddhav Thackeray) खेमा 16 बागी विधायकों के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) पहुंच गया है।

एकनाथ शिंदे को CM बनाने के खिलाफ उद्धव गुट ने खटखटाया SC का दरवाजा, बागी विधायकों को निलंबित करने की मांग की
X

महाराष्ट्र (Maharashtra) में चल रहा सियासी घमासान (Political turmoil) थमने का नाम नहीं ले रहा हैं। इसी बीच एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) की नई सरकार बनने के बाद अब उद्धव (Uddhav Thackeray) खेमा 16 बागी विधायकों के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) पहुंच गया है। शिवसेना (Shiv Sena) के उद्धव खेमे ने मांग की है कि सुप्रीम कोर्ट इन 16 बागी विधायकों को निलंबित करे, जिनके खिलाफ अयोग्यता की कार्यवाही शुरू की गई है।

उद्धव गुट ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट को इस पर सुनवाई करनी चाहिए ताकि संविधान की दसवीं अनुसूची प्रभावी रहे और इसका उल्लंघन न हो। साथ ही उन्होंने आरोप भी लगाया हैं कि डिप्टी स्पीकर को असहाय कर दिया गया है। बता दें कि डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल (Narhari Jirwal) ने 16 बागी विधायकों के खिलाफ अयोग्यता की कार्यवाही शुरू करते हुए नोटिस भेजा था।

बाद में शिंदे गुट के विधायकों ने डिप्टी स्पीकर पर भेदभाव का आरोप लगाया था। गौरतलब हैं कि बागी विधायकों ने भारतीय जनता पार्टी के सहयोग से सरकार बनाई है। एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) ने कल ही महाराष्ट्र के मुख़्यमंत्री पद की शपथ ली है। जबकि भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने उपमुख़्यमंत्री पद की शपथ ली। वही महाराष्ट्र में नई सरकार बनने के बाद से कैबिनेट विस्तार की चर्चा चल रही है। उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को राज्य का गृह और वित्त मंत्री बनाया जा सकता है। वहीं एकनाथ शिंदे सरकार सोमवार को बहुमत साबित करेगी।

बता दें महाराष्ट्र में सियासी संकट के पीछे सबसे बड़ी वजह एकनाथ शिंदे की बगावत है। उन्हें शिवसेना के दो तिहाई विधायकों का समर्थन प्राप्त है। करीब एक हफ्ते पहले वह शिवसेना के दो तिहाई विधायकों को लेकर गुजरात के सूरत पहुंचे थे। उसके बाद वह विधायकों के साथ भाजपा (BJP) शासित राज्य असम की राजधानी गुवाहाटी पहुंचे। इसके बाद महाराष्ट्र (Maharashtra) की सियासत में कोहराम मच गया था।

और पढ़ें
Next Story