Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

खुलासा! आयुष्मान भारत योजना का उठाया जा रहा गलत फायदा, ऐसे लोग ले रहे लाभ

दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना आयुष्माण भारत के तहत दो लाख से ज्यादा फर्जी गोल्डन कार्ड बनाए गए हैं। जिसका खुलासा नेशनल हेल्थ अथॉरिटी (NHA) के आईटी सिस्टम ने किया है।

आयुष्मान भारत के लाभ का उठाया जा रहा गलत फायदा, मामला का हुआ खुलासाआयुष्मान भारत योजना

दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना आयुष्माण भारत के लाभ का गलत फायदा उठाया जा रहा है। जहां योजना के तहत दो लाख से ज्यादा फर्जी गोल्डन कार्ड बना दिए गए है, जिसकी खुलासा नेशनल हेल्थ अथॉरिटी (NHA) के आईटी सिस्टम ने किया है।

हांलाकि अभी तक दो लाख कार्ड का ही खुलासा हुआ है। मामले की जांच के बाद और भी फर्जी कार्ड का राज खुल सकते है। साथ ही एनएचए को योजना के तहत अब तक कितने लोगों को फायदा मिला है। इसकी अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है। बाकी जो भी कार्ड में फर्जी मिले है, उस मामले पर कार्रवाई करने शुरू कर दी गई है।

अगर आयुष्मान भारत कार्ड पर फर्जीवाड़ा का आकड़ा देखा जाए तो गुजरात के एक अस्पताल में आरोग्य मित्र ने एक ही परिवार के नाम पर 1700 लोगों का कार्ड बना हुआ था। ऐसे ही छत्तीसगढ़ के एएसजी अस्पताल में एक परिवार के नाम पर 109 कार्ड बना कर, 57 लोगों ने आंख की सर्जरी भी करा रखी है। पंजाब में दो परिवार के नाम पर 200 कार्ड और मध्य प्रदेश में एक परिवार के 322 कार्ड बनाए गए है।

इसका खुलास तब हुआ जब निजी अस्पतालों ने लगातार बड़े- बड़े बिल सरकार को भेजने शुरू कर दिए गए थे। शुरुआती जांच में 65 अस्पताल का खुलासा कर सरकार के द्वारा 4 करोड़ रुपए का जुर्माना वसूली किया गया है। वहीं फर्जी बिल भेजने वाले 171 अस्पतालों को योजना से बाहर कर दिया गया है। दूसरी ओर मध्यप्रदेश के 700 और बिहार के 650 से ज्यादा बिलों को भी संदिग्ध पाया गया है। इन मामलों पर जांच के बाद ही आगे की कारवाई की जाएगी।

आजादी के बाद से ही गरीबों के लिए बनाई योजनाओं का यही हाल होता रहा है। मनरेगा और आयुष्मान पर जितना खर्च हो रहा उतना लाभ नहीं मिल रहा। कॉर्पोरेट का विस्तार ही सही मायने में गरीब और उसकी समस्याओं का हल है। बस सरकार कॉरपोरेट को कंट्रोल करती रहे।


Priyanka Kumari

Priyanka Kumari

Jr. Sub Editor


Next Story
Top