Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Naxal Attack In India : जानें पिछले 5 सालों में कब-कब हुए 10 बड़े नक्सली हमले

पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह की सरकार में नक्सलियों ने आतंक मचा कर रख दिया था और विपक्ष में बैठी भाजपा इस पर खूब हमलावर थी लेकिन 2014 के आम चुनाव में सत्ता में आए पीएम मोदी ने दावा किया था कि वे नक्सलियों पर नियंत्रण पा चुके हैं। लेकिन उनके दावों की पोल खुलती नजर आ रही है।

Naxal Attack In India : जानें पिछले 5 सालों में कब-कब हुए 10 बड़े नक्सली हमले

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में नक्सलियों ने एक कायराना हमला किया जिसमें करीब 15 जवान शहीद हो गए, जबकि एक ड्राइवर की मौत हो गई। इससे पहले नक्सलियों ने आज सुबह तड़के 25 वाहनो को आग के हवाले किया था। इसके बाद उन्होंने सुरक्षाबलों के वाहन को आईईडी ब्लास्ट से उड़ा दिया। जिसमें 15 जवान शहीद हो गए। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सरकार में नक्सलियों ने आतंक मचा कर रखा था। लेकिन 2014 के आम चुनाव में सत्ता में आई और पीएम मोदी ने नक्सलियों पर नियंत्रण पाने का दावा किया था लेकिन उनके दावों की पोल खुलती नजर आ रही है। तो चलिए जानतें हैं कि पीएम मोदी के राज में कब-कब नक्सली हमला हुआ।

10 नक्सली हमले..

22 मार्च 2015 में लातेहार-लोहरदगा की सीमा पर स्थित मुरमू गांव को नक्सलियों ने निशाना बनाया था। इस हमले में एक भाजपा नेता और झारखंड प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष के दो भाइयों और भतीजे की हत्या कर दी गई थी। इस हमले को करीब सौ नक्सलियों ने अंजाम दिया था।

अप्रैल 2015 में छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने बारुदी सुरंग बनाई थी जिसकी चपेट में आकर चार सुरक्षाबली शहीद हो गए थे।

मार्च 2017– दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने लैंडमाइन बिछाई थी। जैसे ही जवान रास्ते से गुज़रे ब्लास्ट हो गया। इस हमले में 7 जवान शहीद हुए थे।

11 मार्च 2017– छत्तीसगढ़ के भेज्जी में सीआरपीएफ की 219वीं बटालियन पर निशाना साधकर नक्सलियों ने 11 जवानों को शहीद कर दिया था। इस हमले में कई जवान घायल हुए थे।

25 अप्रैल 2017- छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों ने आतंक की सारी हदें पार करते हुए हमला किया था। इस हमले में करीब 26 जवान शहीद हुए थे। जीरम घाटी के बाद ये सबसे बड़ी वारदात थी। इस वारदात ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था।

13 मार्च 2018– सुकमा में एंटी लैंडमाइन व्हीकल में सवार जवानों पर नक्सलियों ने हमला किया था। इस हमले में 9 जवान शहीद हो गए थे। यहां सीआरपीएफ की 212वीं बटालियन में तैनात थे। नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट से घटना को अंजाम दिया था।

30 अक्टूबर 2018– छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा के अरनपुर में नक्सलियों ने पत्रकारों पर भी हमला किया था। इस हमले में दूरदर्शन की टीम के एक कैमरामैन की जान चली गई थी। टीम की सुरक्षा में लगे दो जवान भी शहीद हुए थे।

4 अप्रैल 2019– छत्तीसगढ़ के कांकेर में नक्सलियों से मुठभेड़ में बीएसएफ के 4 जवानों को शहीद हो गए थे। ये हमला तब हुआ जब बीएसएफ की टीम सर्च ऑपरेशन चला रही थी।

9 अप्रैल 2019– दंतेवाड़ा के लोकसभा चुनाव में मतदान से ठीक पहले नक्सलियों ने बीजेपी विधायक भीमा मंडावी की कार पर हमला बोल दिया था। भाजपा नेता मंडावी के साथ इस हमले में चार जवान शहीद हो गए थे।

1 मई 2019- आज बुधवार को ही महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में नक्सलियों ने बड़ा आईईडी ब्लास्ट किया है, इस हमले में 16 जवान शहीद हो गए हैं। जबकि एक ड्राइवर की भी जान चली गई। नक्सलियों ने C60 कमांडो की गश्ती टीम पर घात लगाकर हमला किया। महाराष्ट्र में पिछले 2 सालों में नक्सलियों द्वारा किया गया यह सबसे बड़ा हमला है।

Share it
Top