Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केरल में बढ़ा जीका वायरस का खतरा, 17-18 जुलाई को संपूर्ण लॉकडाउन

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, केरल में कोरोना और जीका वायरस के खतरे को देखते हुए बैंक में केवल पांच दिन ही कामकाज की अनुमति दी गई है। इसके साथ ही संपूर्ण लॉकडाउन के दौरान राज्य में सभी बैंकों को 2 दिन बंद रखने का निर्देश दिया गया है।

केरल में बढ़ा जीका वायरस का खतरा, 17-18 जुलाई को संपूर्ण लॉकडाउन
X

भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर भले ही कम हो गई हो लेकिन खतरा पूरी तरह से बरकरार है। क्योंकि देश के अलग-अलग राज्यों में कोरोना वायरस के नए नए वेरिएंट का खतरा बढ़ रहा है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, दक्षिण भारत में कोरोना के साथ ही जीका वायरस का खतरा भी बढ़ता जा रहा है। केरल में कोरोना और जीका वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए 17 और 18 जुलाई को संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई है। जानकारी के अनुसार केरल में जिस तरह से संक्रमित मरीजों की संख्‍या बढ़ रही है। उसे देखते हुए केरल सरकार राज्य के लिए बहुत ही जल्‍द नई गाइडलाइन जारी कर सकती है।

बैंक में केवल 5 दिन काम की इजाजत

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, केरल में कोरोना और जीका वायरस के खतरे को देखते हुए बैंक में केवल पांच दिन ही कामकाज की अनुमति दी गई है। इसके साथ ही संपूर्ण लॉकडाउन के दौरान राज्य में सभी बैंकों को 2 दिन बंद रखने का निर्देश दिया गया है। बता दें कि केरल में जीका वायरस तेजी के साथ पैर पसार रहा है। बीते मंगलवार को केरल में 3 और नए केस सामने आने के बाद संक्रमित मरीजों की संख्‍या अब 18 हो गई है। मंगलवार को जो जिका वायरस के 3 मामले सामने आए हैं उसमें एक बच्चा भी शामिल है।

केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा है कि जीका वायरस का खतरा लगातार बढ़ रहा है। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि जिन तीन मरीजों में जीका वायरस की का पता चला है उनमें एक बच्चा 1 साल 10 महीने का है। जबकि एक व्यक्ति की उम्र 46 वर्ष है। वहीं एक 29 वर्षीय स्वास्थ्यकर्मी है। कोविड -19 के खतरे के बीच राज्य में अब तक जीका वायरस के 18 मामले सामने आ चुके हैं।

Next Story