Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

देहरादून : IMA की पासिंग आउट परेड के दौरान राष्ट्रपति ने बिपिन रावत को किया याद, कहा- यहीं से ली थी ट्रेनिंग

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ramnath Kovind) ने देहरादून में आईएमए की पासिंग आउट परेड के दौरान सीडीएस जनरल बिपिन रावत (CDS General Bipin Rawat) को याद किया।

देहरादून : IMA की पासिंग आउट परेड के दौरान राष्ट्रपति ने बिपिन रावत को किया याद, कहा- यहीं से ली थी ट्रेनिंग
X

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ramnath Kovind) ने देहरादून में आईएमए की पासिंग आउट परेड के दौरान सीडीएस जनरल बिपिन रावत (CDS General Bipin Rawat) को याद किया। उन्होंने कहा कि हमारा झंडा हमेशा ऊंचा रहेगा, क्योंकि दिवंगत सीडीएस जनरल बिपिन रावत जैसे वीरों को यहीं से प्रशिक्षण दिया गया था। हम हमेशा इसका सम्मान करेंगे।

राष्ट्रपति ने आगे कहा, 'मैं 387 जेंटलमैन कैडेट्स (Gentlemen Cadets) को देखकर खुश हूं, जो जल्द ही अपनी वीरता और ज्ञान की यात्रा पर निकलेंगे। भारत को अफगानिस्तान, भूटान, मालदीव, म्यांमार, नेपाल, श्रीलंका, ताजिकिस्तान, तंजानिया, तुरमेकिनिस्तान और वियतनाम के मित्र देशों के जेंटलमैन कैडेटों पर गर्व है। सुबह 8.50 बजे मार्कर कॉल के साथ परेड शुरू हुई।

कंपनी सार्जेंट मेजर प्रफुल शर्मा, धनंजय शर्मा, अमित यादव, जय मेरवाड़, आश्या ठाकुर, प्रद्युम्न शर्मा, आदित्य जानेकर और कर्मवीर सिंह ने ड्रिल स्क्वायर में अपना स्थान ग्रहण किया। 8.55 बजे एडवांस कॉल के साथ सीना तानते हुए देश के भावी कप्तान अपार साहस और साहस के साथ परेड मार्च के लिए पहुंचे। इसके बाद ड्रिल स्क्वायर पर परेड कमांडर अनमोल गुरुंग हुई। कैडेट्स के शानदार मार्चपास्ट को देख दर्शक दीर्घा में बैठे सभी लोग मंत्रमुग्ध हो गए। राष्ट्रपति ने कैडेटों को समग्र सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन और अन्य उत्कृष्ट सम्मानों से सम्मानित किया।

अनमोल गुरुंग को स्वॉर्ड ऑफ ऑनर और गोल्ड मेडल से नवाजा गया। जबकि तुषार सपरा को सिल्वर और आयुष रंजन को ब्रॉन्ज मिला। कुणाल चौबीसा ने रजत पदक (टीजी) जीता। भूटान के सांगे फेनडेन दोरजी को सर्वश्रेष्ठ विदेशी कैडेट चुना गया। करेन कंपनी द्वारा चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ बैनर का स्वागत किया गया।

इस दौरान राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेनी), मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, आरट्रैक कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल राज शुक्ला, आईएमए कमांडेंट लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह, डिप्टी कमांडेंट मेजर जनरल आलोक जोशी सहित सेना के कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। आज देश-विदेश के 387 जेंटलमैन कैडेट इंडियन मिलिट्री एकेडमी देहरादून से पास आउट होकर मिलिट्री ऑफिसर बन गए हैं।

पासिंग आउट परेड के बाद, 319 भारतीय कैडेट अधिकारी के रूप में भारतीय सेना में शामिल हुए। 8 मित्र देशों के 68 जेंटलमैन कैडेट पास आउट होंगे और अपने देश में सैन्य अधिकारियों के रूप में शामिल होंगे। इस बार पासिंग आउट परेड में सबसे ज्यादा संख्या में उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड मूल के कैडेट पास आउट हुए। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के 45 और उत्तराखंड (Uttarakhand) के 43 कैडेट पास आउट हुए हैं। इसी के साथ हरियाणा के 34, बिहार के 26, राजस्थान (Rajasthan) के 23 और पंजाब (Punjab) के 22 कैडेट पास आउट हुए। 8 मित्र देशों के 68 जेंटलमैन कैडेट पास आउट हुए और सैन्य अधिकारियों के रूप में अपने देश में शामिल हुए।

और पढ़ें
Next Story