Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बड़ा खुलासा: द क्लाक्सोन का दावा, चीन और पाकिस्तान निर्माण के नाम पर तैयार कर रहे बायो वेपन

चीन के वुहान लैब से निकला खतरनाक वायरस कोरोना का खतरा अभी खत्म भी नहीं हुआ। वहीं पाकिस्तान और चीन वुहान की एक लैब में मिलकर एक खतरनाक जैविक हथियार यानी बायो वैपन को तैयार कर रहे हैं।

बड़ा खुलासा: द क्लाक्सोन का दावा, चीन और पाकिस्तान निर्माण के नाम पर तैयार कर रहे बायो वेपन
X

चीन के वुहान लैब से निकला खतरनाक वायरस कोरोना का खतरा अभी खत्म भी नहीं हुआ। वहीं पाकिस्तान और चीन वुहान की एक लैब में मिलकर एक खतरनाक जैविक हथियार यानी बायो वैपन को तैयार कर रहे हैं। यह भी एक तरह का खतरनाक वायरस होगा।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ऑस्ट्रेलिया की एक वेबसाइट द क्लार्कसन ने दावा किया है कि चीन और पाकिस्तान मिलकर कई सालों से एक खतरनाक वायरस पर काम कर रहे हैं और दोनों के बीच एक डील हुई है। भारत और चीन और पाकिस्तान मिलकर लगातार कई सालों से बुहान की लाइफ में जैविक हथियार तैयार कर रहे हैं। ऑस्ट्रेलियाई वेबसाइट द क्लाक्सोन ने दावा किया है।

वुहान इंस्टिट्यूट ऑफ बायोलॉजी में यह जैविक हथियार बनाया जा रहा है। जिसको लेकर दोनों देशों के बीच समझौता हुआ है। वैसे चीन और पाकिस्तान के बीच सड़क निर्माण को लेकर भी कई तरह की डील हुई है। लेकिन इसकी आड़ में यह जैविक हथियार बना रहे हैं। जिससे पूरी दुनिया में भारी तबाही होने का अनुमान है। लैब पाकिस्तान के साथ साल 2015 से ही खतरनाक बैक्टीरिया-वायरस पर प्रयोग कर रही है।

मिली रिपोर्ट के मुताबिक, चीन और पाकिस्तान के साइंटिस्ट ने अब तक पांच स्टडी कर ली है। इन स्टडीज में साइंटिस्ट ने जूनोटिक पैथकों की खोज की है और इसके लक्षणों के बारे में चर्चा की है। यह ऐसा संक्रमण है जो जानवरों से इंसानों में फैलता है।

बता दें कि कोरोना महामारी को भी चीन की महान लैब से निकाल कर दुनिया में फैलाने के बारे में बताया जा रहा है और इसको लेकर लगातार कहा जा रहा है कि चमगादड़ से इस वायरस की उत्पत्ति हुई है। रिपोर्ट में लिखा है कि इन पांचों स्टडीज में कई घातक और संक्रामक बीमारियों के जीनोम सिक्वेंसिंग के बारे में भी लिखा है।

Next Story