Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

दो घंटे देरी से पहुंची देश की पहली निजी ट्रेन 'तेजस एक्सप्रेस', अब प्रत्येक यात्री को मिलेगा 250 रूपए का मुआवजा

तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) को 4 अक्टूबर से शुरु किया गया है। इसका संचालन इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (Indian Railway Catering And Tourism Corporation) कर रहा है। ऐसा पहली बार है जब यात्रियों को ट्रेन की देरी पर मुआवजा मिलेगा।

दो घंटे देरी से पहुंची देश की पहली निजी ट्रेन तेजस एक्सप्रेस, अब प्रत्येक यात्री को मिलेगा 250 रूपए का मुआवजादो घंटे देरी से पहुंची देश की पहली निजी ट्रेन तेजस एक्सप्रेस, अब प्रत्येक यात्री को मिलेगा 250 रूपए का मुआवजा

दिल्ली और लखनऊ के बीच चलने वाली पहली निजी हाईस्पीड ट्रेन (Private High Speed Train) तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) शनिवार को दो घंटे देरी से पहुंची थी। यह देरी रख-रखाव में ज्यादा वक्त लगने की वजह से हुई थी लेकिन अब इसका मुआवजा प्रत्येक यात्री को दिया जाएगा। दिल्ली से तेजस एक्सप्रेस में पांच लोगों ने यात्रा की थी जबकि लखनऊ से ट्रेन में 451 यात्री सवार हुए थे।

आईआरसीटीसी के लखनऊ के मुख्य क्षेत्रीय प्रंबंधन अश्विनी श्रीवास्तव ने कहा कि हमने यात्रियों के मोबाइल पर एक लिंक भेजा है, जिस पर क्लिक करने से वे अपने मुआवजे के लिए आवेदन कर सकते हैं। देरी होने के कारण यात्रियों को दोपहर का खाना, अतिरिक्त चाय और कुछ पैकेट्स दिए गए जिनमें सॉरी फॉर डिले छपा हुआ था।

इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन कर रहा संचालन

बता दें कि तेजस एक्सप्रेस को 4 अक्टूबर से शुरु किया गया है। इसका संचालन इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन कर रहा है। ऐसा पहली बार है जब यात्रियों को ट्रेन की देरी पर मुआवजा मिलेगा।

ट्रेन आने में हुई देरी तो 100 और 250 रुपए होंगे रिफंड

यह मुआवजा तभी दिया जाएगा जब ट्रेन निर्धारित समय पर अंतिम स्टेशन पर नहीं पहुंचती है। लेकिन अगर ट्रेन निर्धारित समय से देरी से चलने के बावजूद अंतिम स्टेशन पर समय पर पहुंचती है तो यात्रियों को मुआवजा नहीं दिया जाएगा। नियमों के मुताबिक ट्रेन अगर एक घंटा लेट होती है तो 100 रूपए और दो घंटे लेट होने 250 रूपए रिफंड दिया जाएगा।

Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top