Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

10 Swami Vivekananda Quotes : 10 स्वामी विवेकानंद जी के अनमोल विचार

स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda) एक विख्यात आध्यात्मिक गुरू व वेदांत के ज्ञाता थे। उन्होंने भारतीय संस्कृति व सनातन सभ्यता का संदेश पूरे विश्व को दिया। आज के दिन यानी 4 जुलाई (Swami Vivekananda Death Anniversary) को ही उन्होंने इस संसार से विदा ली थी।

Swami Vivekananda Death Anniversary : स्वामी विवेकानंद जी के 10 वो विचार जो आज भी प्रासंगिक हैंswami vivekananda death anniversary swami vivekananda hindi quotes swami vivekananda quotes

10 Swami Vivekananda Quotes : स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda) एक विख्यात आध्यात्मिक गुरू व वेदांत के ज्ञाता थे। उन्होंने भारतीय संस्कृति व सनातन सभ्यता का संदेश पूरे विश्व को दिया। आज के दिन यानी 4 जुलाई (Swami Vivekananda Death Anniversary) को ही उन्होंने इस संसार से विदा ली थी। आज उनका 116वां पुण्य तिथि (Swami Vivekananda's 116th Death Anniversary) है। स्वामी विवेकानंद के गुरू रामकृष्ण परमहंस (Ramkrishna Paramhansh) थे। उन्होंने रामकृष्ण मिशन (Ram Krishna Mission) की स्थापना की। स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda) को यूं तो सभी एक संत के रूप में ही जानते हैं लेकिन वे एक महान वक्ता, विचारक व देशभक्त थे। एक बार उन्होंने अमेरिका के शिकागो (Chicago Speech of Swami Vivekananda) में विश्व धर्म महासभा में पहुंचे और अपने भाषण (Swami Vivekananda Speach) से पूरे विश्व समुदाय का ध्यान खींचा।

स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda) ने शिक्षा के क्षेत्र में बहुत योगदान दिया था। वे युवाओं को ही राष्ट्र के निर्माता के तौर पर मानते थे। उन्होंने विशेषकर युवाओं के लिए संदेश दिए थे। उनकी पुण्य तिथि (Swami Vivekananda Death Anniversary) के अवसर पर हम लाए हैं कुछ प्रेरक विचार (Swami Vivekananda Thoughts), कोट्स (Swami Vivekananda Quotes), व संदेश (Swami Vivekananda Messages) जिसके माध्यम से हम खुद तो प्रेरणा लेंगे ही साथ में अपने शुभचिंतकों को भी स्वामी विवेकानंद जी के विचार (Swami Vivekananda Inspiring Quotes) भेज सकते हैं।

आईए जानते हैं स्वामी विवेकानंद की प्रेरणादायक बातें (Swami Vivekananda Quotes in hindi)

1. उठो, जागो और तब तक मत रुको जब तक लक्ष्य ना प्राप्त हो जाए।


2. उठो मेरे शेरों, इस भ्रम को मिटा दो कि तुम निर्बल हो, तुम एक अमर आत्मा हो, स्वच्छंद जीव हो, धन्य हो, सनातन हो, तुम तत्व नहीं हो, ना ही शरीर हो, तत्व तुम्हारा सेवक है तुम तत्व के सेवक नहीं हो।


3. ब्रह्माण्ड की सारी शक्तियां पहले से हमारी हैं। वो हमीं हैं जो अपनी आंखों पर हांथ रख लेते हैं और फिर रोते हैं कि कितना अन्धकार है।


4. जिस तरह से विभिन्न स्रोतों से उत्पन्न धाराएं अपना जल समुद्र में मिला देती हैं, उसी प्रकार मनुष्य द्वारा चुना हर मार्ग, चाहे अच्छा हो या बुरा भगवान तक जाता है।


5. किसी की निंदा ना करें: अगर आप मदद के लिए हाथ बढ़ा सकते हैं, तो ज़रुर बढाएं। अगर नहीं बढ़ा सकते, तो अपने हाथ जोड़िए, अपने भाइयों को आशीर्वाद दीजिये, और उन्हें उनके मार्ग पर जाने दीजिए।


6. कभी मत सोचिए कि आत्मा के लिए कुछ असंभव है। ऐसा सोचना सबसे बड़ा विधर्म है। अगर कोई पाप है, तो वो यही है; ये कहना कि तुम निर्बल हो या अन्य निर्बल हैं।


7. अगर धन दूसरों की भलाई करने में मदद करे, तो इसका कुछ मूल्य है, अन्यथा, ये सिर्फ बुराई का एक ढेर है, और इससे जितना जल्दी छुटकारा मिल जाए उतना बेहतर है।


8. हम वो हैं जो हमें हमारी सोच ने बनाया है, इसलिए इस बात का ध्यान रखीए कि आप क्या सोचते हैं। शब्द गौण हैं। विचार रहते हैं, वे दूर तक यात्रा करते हैं।


9. उस व्यक्ति ने अमरत्व प्राप्त कर लिया है, जो किसी सांसारिक वस्तु से व्याकुल नहीं होता।


10. जब तक आप खुद पे विश्वास नहीं करते तब तक आप भगवान पर विश्वास नहीं कर सकते।




Next Story
Top