Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Sushma Swaraj Birthday : सुषमा स्वराज कैसे हुईं 'सुपर मॉम' के रूप में पॉपुलर, जानें यहां

Sushma Swaraj Birthday : सुषमा स्वराज विदेश मंत्री रहते हुए देश की सुपर मॉम के रूप में पॉपुलर थीं। यहां तक की भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान में भी सुषमा स्वाराज सुपर मॉम के रूप में पॉपुलर थीं।

Sushma Swaraj Birthday : सुषमा स्वराज कैसे हुईं
X
सुषमा स्वराज

Sushma Swaraj Birthday (सुषमा स्वराज जयंती) : सुषमा स्वराज का 14 फरवरी को जन्मदिन है। हालांकि सुषमा स्वराज हमारे बीच नहीं रही हैं। बीते साल 2019 में दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया था। सुषमा स्वराज बहुत ही सरल स्वभाव की महिला थीं। वह हर साल झुग्गी बस्तियों में अपना जन्म दिन मनाती थीं।

विदेश मंत्रालय की ओर से आज कहा गया है कि प्रवासी भारतीय केंद्र का नाम बदलकर सुषमा स्वराज भवन और दिल्ली के फॉरेन सर्विस इंस्टीट्यूट का नाम बदलकर सुषमा स्वराज इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेन सर्विस रखा जाएगा। नाम परिवर्तन के जरिए पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को उनके अमूल्य योगदान के लिए श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी। इस मौके पर जानतें है सुषमा स्वराज को 'सुपर मॉम' क्यों कहा जाने लगा था।

सुषमा स्वराज कैसे हुईं 'सुपर मॉम' के रूप में पॉपुलर

सुषमा स्वराज विदेश मंत्री रहते हुए देश की सुपर मॉम के रूप में पॉपुलर थीं। यहां तक की भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान में भी सुषमा स्वाराज सुपर मॉम के रूप में पॉपुलर थीं। सुषमा स्वराज बहुत ही सरल स्वभाव की महिला थीं। वह अपना जन्मदिन झुग्गी बस्तियों में मनाती थी। विदेश मंत्री रहते हुए पासपोर्ट से लेकर भारतीयों के फंसे होने न मिलने के गुजारिश वाले हर ट्वीट पर संज्ञान लेकर हर किसी को जवाब देते हुए उनकी शिकायत का समाधान किया था।

इतना ही नहीं सुषमा स्वराज काम पूरा हो जाने के बाद जानकारी भी देती थी। यही कारण था कि उन्हें सुपर मॉम कहा जाने लगा था। जब पाकिस्तान हमारे देश पर आक्रमण कर रहा था। उस समय भी उन्होंने वहां के लोगों की गुहार को सुना और उनके लिए वीजा का इंतजाम भी किया था। इस कार्य के लिए उनकी काफी आलोचना भी हुई थी। यहां तक की सुषमा को सोशल मीडिया पर भी ट्रोल किया गया जाने लगा था।

21 जुलाई 2019 को सुषमा स्वाराज को इरफान ए खान नामक ट्रोलर ने लिखा था आप भी बहुत याद आएंगी एक दिन, शीला दीक्षित की तरह अम्मा…तो उन्होंने भी बड़ी तत्परता से उसे जवाब देकर कहा था आपकी इस भावना के लिए अग्रिम धन्यवाद।


सुषमा स्वराज ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में इन विभागों की संभाली जिम्मेदारी

* श्रम और रोजगार 1977-1979

* शिक्षा, खाद्य और नागरिक आपूर्ति 1987-1990

* सूचना और प्रसारण 16 मई 1996-1 जून 1996

* सूचना और प्रसारण और दूरसंचार (अतिरिक्त प्रभार) 19 मार्च-12 अक्टूबर 1998

* सूचना और प्रसारण 30 सितंबर 2000 से 29 जनवरी 2003

* 29 जनवरी 2003 से 22 मई 2004 स्वास्थ मंत्री एवं संसदीय मंत्री

* अप्रेल 2006, 5वीं बार राज्य सभा के लिए पुन: चुनी गईं।

* 16 मई 2009, 15वीं लोकसभा के लिए छटवीं बार चुनी गईं।

* 3 जून 2009 को लोक सभा के उपनेता विपक्ष चुनी गईं।

* 21 दिसंबर 2009 को नेता विपक्ष चुनी गईं।

* 26 मई 2014 से 24 मई 2019 तक विदेश मंत्री के पद पर आसीन रहीं।

Next Story