Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Sushma Swaraj Birthday : सुषमा स्वराज को देश की पहली महिला विदेश मंत्री होने का गौरव था प्राप्त, जानें 10 रोचक बातें

Sushma Swaraj Birthday : आज स्वर्गीय सुषमा स्वराज का 68वा जन्मदिन है, सुषमा स्वराज का जन्म 14 फरवरी 1952 को हरियाणा के अंबाला कैंट में हुआ था। सुषमा स्वराज अपने अपने कॉलेज के दौरान ही बीजेपी की छात्रसंग इकाई एबीवीपी के साथ जुड़ गई थी। स्वर्गीय सुषमा स्वराज जी के 68वे जन्मदिन के अवसर पर जानते हैं उनसे जुड़े 10 रोचक किस्से

Sushma Swaraj Birthday : सुषमा स्वराज को देश की पहली महिला विदेश मंत्री होने का गौरव था प्राप्त, जानें 10 रोचक बातें
X
सुषमा स्वराज (फाइल फोटो)

Sushma Swaraj Birthday : भारतीय जनता पार्टी की दिग्गज नेता सुषमा स्वराज का जन्म 14 फरवरी 1952 को हरियाणा के अंबाला कैंट में हुआ था। सुषमा स्वराज ने अपने राजनितिक जीवन में कई कीर्तिमान हासिल किए, सुषमा स्वराज दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री बनने के साथ भारत की पहली महिला विदेश मंत्री भी रही हैं।

बेशक आज सुषमा स्वराज हमारे बीच नहीं हो लेकिन भारतवासी उनको और उनके योगदान को कभी नहीं भूलेगा। सुषमा स्वराज अपने अपने कॉलेज के दौरान ही बीजेपी की छात्रसंग इकाई एबीवीपी के साथ जुड़ गई थी। इस दौरान भी उन्होंने अपनी महत्वपूर्ण छवि बनाई थी। स्वर्गीय सुषमा स्वराज जी के 68वे जन्मदिन के अवसर पर जानते हैं उनसे जुड़े 10 रोचक किस्से

सुषमा स्वराज बनी पहली विदेश मंत्री

26 मई 2014 को सुषमा स्वराज देश की पहली महिला विदेश मंत्री बनी थी। वैसे इससे पहले देश की पहली प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी इस पद पर रह चुकी थी लेकिन पूर्ण रूप से विदेश मंत्रालय संभालने वाली सुषमा स्वराज पहली महिला विदेश मंत्री थी।

एनसीसी की थी कैडेट

सुषमा स्वराज ने अपनी स्कूलिंग अंबाला से ही की और इसके बाद वो चंडीगढ़ लॉ की पढाई करने चली गई। शिक्षा ग्रहण करते समय ही उन्होंने अपनी पहचान बना ली थी तभी तो उन्हें पंजाब विश्विद्यालय ने स्वराज को सर्वश्रेष्ठ वक्त के रूप में सम्मानित किया था। सुषमा स्वराज ने जयप्रकाश नारायण आंदोलन में भी हिस्सा लिया था। सुषमा स्वराज नेशनल कैडेट कोर (NCC) की भी बेस्ट कैडेट रही थी।


1970 में की राजनितिक करियर की शुरुआत

बीजेपी की छात्रसंघ ABVP के साथ उन्होंने अपने राजनितिक करियर की शुरुआत की थी। 1999 में सोनिया गांधी के सामने चुनाव लड़ने वाली सुषमा स्वराज 7 बार सांसद रह चुकी है जबकि 3 बार विधायक। सुषमा स्वराज 1998 में दिल्ली की मुख्यमंत्री बनी थी। सुषमा स्वराज दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री थी।

25 वर्ष की उम्र में बनी कैबिनेट मंत्री

सुषमा स्वराज 25 वर्ष की उम्र में ही राज्य कैबिनेट मंत्री बन गई थी जो एक रिकॉर्ड था। उन्होंने चौधरी देवीलाल की कैबिनेट में जगह बनाई थी। मात्र 27 साल की उम्र में तो सुषमा स्वराज को हरियाणा प्रमुख बना दिया गया था।


भाजपा की पहली महिला राष्ट्रीय प्रवक्ता

सुषमा स्वराज पहली महिला थी जिन्हे भाजपा ने राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाया था। सुषमा स्वराज को पहली भाजपा कैबिनेट मंत्री बनने का भी गौरव प्राप्त है। सुषमा स्वराज को असाधारण सांसद के अवार्ड से भी नवाजा जा चुका है। इस अवार्ड से नवाजी जाने वाली सुषमा एकलौती महिला सांसद है।

आखिरी ट्वीट में दिया प्रधामंत्री को धन्यवाद

सुषमा स्वराज ने अपना आखिरी ट्वीट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देने के लिए किया था। कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद उन्होंने प्रधानमंत्री का शुक्रिया किया था जो उनका आखिरी ट्वीट था। यह ट्वीट सुषमा स्वराज ने 6 अगस्त 2019 को किया था। इस ट्वीट में सुषमा स्वराज ने लिखा था कि मै अपनी जिंदगी में इस दिन का इंतिजार कर रही थी।


1975 में की शादी

सुषमा स्वराज की शादी एडवोकेट स्वराज कौशल से हुई थी। दोनों का नाम विशेष कपल के रूप में लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज है। उनकी एक बेटी ने भी वकालत की पढाई की है जो वर्तमान में दिल्ली हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में वकालत कर रही है।

किडनी फेल की खबर खुद शेयर की

उनके साहस का अंदाजा इस बात से लगाइए कि उन्होंने अपनी किडनी फेल की खबर सोशल मीडिया पर खुद से दी थी। सुषमा स्वराज सोशल मीडिया पर खूब एक्टिव रहती थी।


जरुरतमंदो की हमेशा की मदद

विदेश मंत्री रहते हुए उन्होंने बहुत से जरुरतमंदों की मदद की थी। विदेश में फंसे कई व्यक्तियों की पुकार वो एक ट्वीट के माध्यम से सुन लेती थी और उनकी हर मुमकिन मदद करती थी।

13 दिनों के लिए बनी थी मंत्री

सुषमा स्वराज अटल सरकार में केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री बनी थी, हालांकि उनका कार्यकाल मात्र 13 दिन का था। आज बेशक सुषमा स्वराज हमारे बीच नहीं है लेकिन भारत उनके योगदान को कभी नहीं भूलेगा।

Next Story