Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सुप्रीम कोर्ट ने बिहार विधानसभा चुनाव को रोकने वाली याचिका को किया खारिज

सुनवाई के दौरान न्यायमूर्ति अशोक भूषण ने कहा कि कोविड-19 चुनाव स्थगित करने का आधार नहीं हो सकते।

सुप्रीम कोर्ट ने लोन EMI मामले में दी बड़ी राहत, NPA की अवधि दो महीने और बढ़ी
X
सुप्रीम कोर्ट फ़ोटो फ़ाइल

सुप्रीम कोर्ट ने आज बिहार के कोरोना वायरस (कोविड-19) मुक्त हो जाने तक राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव को स्थगित करने को लेकर दाखिल याचिका पर विचार करने से इनकार कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट का कहना है, यह याचिका अपरिपक्व है। जानकारी के लिए आपको बता बिहार में इस वर्ष के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं।

सुनवाई के दौरान जज (न्यायमूर्ति) अशोक भूषण ने कहा कि कोरोना वायरस के कारण चुनाव स्थगित करने का आधार नहीं हो सकता है। खासतौर से तब जब चुनाव का ऐलान करने वाली अधिसूचना भी जारी नहीं की गई है। यह अनुच्छेद 32 के तहत एक गलत याचिका है, हम इस याचिका पर विचार नहीं कर सकते हैं।

वहीं, न्यायमूर्ति एमआर शाह ने कहा कि चुनाव के दौरान चुनाव आयोग सभी जरूरी सावधानी बरतेंगे। हर चीज पर विचार करेंगे। याचिकाकर्ता को क्यों लगता है कि चुनाव आयोग इन बातों पर विचार नहीं करेगा?

इससे पहले कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर कुछ राजनीतिक पार्टियों के द्वारा बिहार विधानसभा चुनाव को टालने की मांग के बीच निर्वाचन आयोग के उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया था कि बिहार में विधानसभा चुनाव समय पर होगा। बता दें कि बिहार की 243 सदस्यीय विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर 2020 को समाप्त हो रहा है।

Next Story