Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

NEET परीक्षा टालने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, 13 सितंबर से ही होगी देश भर में परीक्षा

सुप्रीम कोर्ट में आज जेईई और नीट एग्जाम को लेकर दायर की गई याचिका पर ने इनकार कर दिया है। कोर्ट में आज नेशनल एलिजिबिलिटी एंट्रेंस टेस्ट और जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम को रद्द कराने के लिए दायर की गई

NEET परीक्षा टालने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, 13 सितंबर से ही होगी देश भर में परीक्षा
X

सुप्रीम कोर्ट में आज जेईई और नीट एग्जाम को लेकर दायर की गई याचिका पर ने इनकार कर दिया है। कोर्ट में आज नेशनल एलिजिबिलिटी एंट्रेंस टेस्ट और जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम को रद्द कराने के लिए दायर की गई। तीन याचिकाओं पर सुनवाई से इनकार कर दिया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस अशोक भूषण ने नीट और जेईई एग्जाम को स्थगित करने वाली याचिकाओं को खारिज कर दिया। उन्होंने सुनवाई के दौरान कहा कि परीक्षाओं को लेकर सभी तैयारियां हो चुकी है। ऐसे में रिव्यू पिटिशन पर सुनवाई नहीं कर सकते हैं। इससे पहले 28 अगस्त को बीच सुप्रीम कोर्ट ने जेईई और नीट और जेईई एग्जाम पर डाली गई याचिका को खारिज कर दिया था।

जानकारी के लिए बता दें कि याचिकाकर्ताओं की तरफ से दायर की गई याचिका में कहा गया है कि बिहार में परीक्षा के लिए इस तरह दो परीक्षा केंद्र है। ऐसे में छात्रों को आने जाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा।

एक सेंटर पटना और बिहार दूसरा गया में हैं। ऐसे में स्टूडेंट परीक्षा देने में कैसे पहुंचेंगे। उन्होंने कहा कि कई छात्र ऐसे हैं, जो कंटेनमेंट जोन में रहने वाले हैं। जिन्हें परीक्षा देने की अनुमति नहीं दी गई है।

जानकारी के लिए बता दें कि 1 से लेकर 6 सितंबर तक जेईई एग्जाम करवाए जा रहे हैं और वही नीट का एग्जाम 13 सितंबर को देश भर में किया जाएगा। इससे पहले भी सुप्रीम कोर्ट ने देशभर में इन दोनों परीक्षाओं को आयोजित कराने की इजाजत दे दी थी।

वहीं दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने देश में प्रदेश में हुए जेईई एग्जाम के दौरान छात्रों की कम उपस्थिति को लेकर केंद्र सरकार पर सवालिया निशान खड़े किए। जिसमें उन्होंने कहा कि 75 से अधिक छात्र एग्जाम देने से बच ग। लेकिन 25 फ़ीसदी ही एग्जाम दे पाए। ऐसे में बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ क्यों किया जा रहा है।

नीट-यूजी की सितंबर में होने वाली परीक्षाओं के कार्यक्रम में हस्तक्षेप करने से इंकार करते हुए 17 अगस्त को कहा था कि छात्रों का कीमती वर्ष बर्बाद नहीं किया जा सकता और जीवन चलते रहना है।

Next Story