Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

International Yoga Day 2021: जानिए अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का इतिहास, थीम 2021 और रोचक बातें

भारत समेत दुनिया भर में 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day 2021) मनाया जाता है। आइए जानते हैं कि इस साल की थीम क्या है, कब से मनाया जा रहा है योग दिवस और 21 जून को ही क्यों मनाया जाता है योग दिवस...

International Yoga Day 2021: जानिए अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का इतिहास, थीम 2021 और रोचक बातें
X

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day 2021)

International Yoga Day 2021: भारत समेत दुनिया भर में 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day 2021) मनाया जाता है। योग का प्रचार और प्रसार करने के लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा ने भारत सरकार के इस प्रस्ताव को स्वीकार किया और 21 जून 2015 से अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (Yoga Day) मनाने का ऐलान किया। 21 जून साल का सबसे बड़ा दिन होता है। इस साल यह खास दिन 21 जून (21 June) दिन सोमवार को मनाया जाएगा। एक रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना महामारी के दौरान देश ही नहीं दुनिया में इसकी उपयोगिता बढ़ गई है। बीते साल की तरह ही इस बार भी योग दिवस डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म पर मनाया जाएगा। 2015 से योग के महत्व और मानव स्वास्थ्य पर इसके प्रभावों के बारे में लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है। आइए जानते हैं कि इस साल की थीम क्या है, कब से मनाया जा रहा है योग दिवस और 21 जून को ही क्यों मनाया जाता है योग दिवस...

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की थीम

इस साल की थीम 'बी विद योग, बी, एट होम' ("Be With Yoga, Be At Home") होगी। इससे पहले साल 2020 में कोरोना महामारी की वजह से लोग घर पर ही थे। तब 'घर में रहकर योग करें' थीम थी। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की रिपोर्ट से पता चलता है कि कोरोना वायरस कई सालों तक दुनिया को नहीं बख्शेगा। ऐसे में बाहर जाकर सामूहिक गतिविधियों में हिस्सा लेना जोखिम भरा होता है।

योग का इतिहास

कहते हैं कि योग का इतिहास लगभग योग लगभग 6000 साल पुराना शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक अभ्यास है, जो भारत में उत्पन्न हुआ और कई हजार सालों तक हिंदू, बौद्ध और जैन धर्म सहित कई धर्मों में प्रसिद्ध रहा। यह समय के साथ बदलता और विकसित होता रहा। 19वीं शताब्दी के दौरान पश्चिमी देशों ने योग में रूचि लेना शुरू किया। यूरोप में इसे बढ़ावा देना शुरू कर दिया। कहते हैं कि योग का उल्लेखन वेदों (4), उपनिषदों (18), स्‍मृतियों, बौद्ध धर्म, जैन धर्म, पाणिनी, महाकाव्‍यों (2) के उपदेशों, पुराणों (18) आदि में भी है।

2015 से हुई शुरूआत

11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस वैश्विक स्तर पर मनाने का ऐलान किया। 21 जून का दिन साल के 365 दिनों में से सबसे बड़ा होता है। इसके बाद हर साल 21 जून के दिन भारत नहीं विश्व भर में इस दिन को मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र (United Nations) में भारत की पहल पर स्वस्थ रहने के लिए योग के प्रसार और प्रचार के लिए इसकी घोषणा की।

21 जून का महत्व

ऐसे में कई लोगों के मन में एक और सवाल उठता है कि आखिर 21 जून को ही क्यों योग दिवस मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 2014 को 21 जून से विश्व योग दिवस मनाने का ऐलान किया। कहते हैं कि 21 जून को सूर्य की सबसे ज्यादा रोशनी उत्तरी गोलार्ध पर पड़ती है। जिसकी वजह से यह दिन सबसे बड़ा होता है।

योग का अर्थ

संस्कृत भाषा से व्युत्पन्न 'योग' शब्द का अर्थ है एक होना (किसी के साथ) या जुड़ना। प्राचीन भारतीय ऋषि पतंजलि को आधुनिक योग का जनक माना जाता है। क्योंकि उन्होंने ही योग के सभी पहलुओं को एक निश्चित प्रारूप में संहिताबद्ध किया और योग का परिचय दिया। फिर एक लंबे समय के बाद भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्पष्ट रूप से योग के अंतर्राष्ट्रीय दिवस को नामित करने की मांग की। पीएम ने यह भी कहा कि दुनिया भर में लाखों लोग इस तरह के एक अंतर्राष्ट्रीय दिवस की इच्छा रखते हैं और यह संयुक्त राष्ट्र के मंच पर एकजुट होकर जनता की भावनाओं का सम्मान करने की जिम्मेदारी है। जिसके बाद संयुक्त राष्ट्र आमसभा ने इसकी घोषणा की।

Next Story