Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सांख्यिकी विभाग ने जारी किए आंकड़े, बीते 10 महीनों में सबसे ज्यादा हुई खुदरा महंगाई दर

सांख्यिकी विभाग ने गुरुवार को खुदरा महंगाई दर के आंकड़े जारी किए। इन आंकड़ों के मुताबिक अगस्त के माह में यह 3.21 प्रतिशत तक पहुंच गई।

सांख्यिकी विभाग ने जारी किए आंकड़े, बीते 10 महीनों में सबसे ज्यादा हुई खुदरा महंगाई दरMinitry Of Statistics Released Figures Highest Retail Inflation Rate In Last 10 Months

सांख्यिकी विभाग की ओर से जारी किए ताजा आंकड़ों के मुताबिक खुदरा (Retail) महंगाई दर बीते 10 महीनों में सबसे ज्यादा है। अगस्त के महीने में यह दर बढकर 3.21 प्रतिशत तक पहुंच गई है। बीते महीने खाद्य वस्तुओं की कीमतें बढ़ने से महंगाई दर पर इसका असर पड़ा है।

अक्टूबर 2018 में थी सबसे ज्यादा खुदरा महंगाई दर

फूड बास्केट की महंगाई दर जुलाई में 2.36 प्रतिशत थी जो बढ़कर 2.99 प्रतिशत तक पहुंच गई है। जुलाई के माह में खुदरा महंगाई दर 3.15 प्रतिशत थी। अक्टूबर 2018 में इससे ज्यादा 3.38 प्रतिशत थी।




क्या कहता है RBI का लक्ष्य

हालांकि यह खुदरा महंगाई अभी भी आरबीआई के लक्ष्य के नीचे है। आरबीआई के लक्ष्य के तहत खुदरा महंगाई 4 प्रतिशत के आस-पास ही रहनी चाहिए। खुदरा महंगाई दर को ध्यान में रखकर केंद्रीय बैंक ब्याज दरें तय करता है। लक्ष्य से कम महंगाई दर बाजार में मांग कम होने का संकेत देती है। ऐसे में आरबीआई द्वारा ब्याज दरें घटाने की उम्मीद रहती है। यह खुदरा महंगाई दर बीते तेरह महीने से चार प्रतिशत से नीचे है।



सांख्यिकी विभाग ने साथ ही जुलाई के आईआईपी (Industrial Production) की ग्रोथ के आंकड़े भी जारी किए। यह ग्रोथ जुलाई में 4.3 प्रतिशत रही। बीते साल जुलाई में 6.5 प्रतिशत और इस साल जून में 1.2 प्रतिशत थी। जबकि महीने के आधार पर इस ग्रोथ में काफी तेजी आई है।

अगर सालाना आधार पर देखा जाए तो मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में गतिविधियां सुस्त रहने की वजह से इस ग्रोथ पर ज्यादा असर पड़ा है। मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में ग्रोथ 4.2 प्रतिशत रही जो कि बीते साल जुलाई में सात प्रतिशत तक थी।

Next Story
Share it
Top