Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

SriLanka Crisis के बीच विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा- हम श्रीलंका की आगे भी मदद करते रहेंगे

भारी विदेशी कर्ज के तले दबे श्रीलंका (Sri Lanka) एक बार फिर प्रदर्शन की आग में जल रहा है. प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति गोतबया राजपक्षे (Gotabaya Rajapakse) के आधिकारिक आवास पर भी कब्जा कर लिया है। इस बीच भारत के केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) का बयान सामने आया है।

SriLanka Crisis के बीच विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा- हम श्रीलंका की आगे भी मदद करते रहेंगे
X

भारी विदेशी कर्ज के तले दबे श्रीलंका (Sri Lanka) एक बार फिर प्रदर्शन की आग में जल रहा है. प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति गोतबया राजपक्षे (Gotabaya Rajapakse) के आधिकारिक आवास पर भी कब्जा कर लिया है। इस बीच भारत के केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) का बयान सामने आया है। एस जयशंकर ने रविवार को कहा, "हम श्रीलंका का बहुत समर्थन करते रहे हैं।

हम मदद करने की कोशिश कर रहे हैं। हम हमेशा उनके लिए बहुत मददगार होते हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि अभी कोई शरणार्थी संकट (Refugee Crisis) नहीं है। जयशंकर ने आगे कहा 'वे अभी अपनी समस्याओं पर काम कर रहे हैं, इसलिए हमें इंतजार करना होगा और देखना होगा कि वे क्या करते हैं।' यह पूछे जाने पर कि क्या कोई शरणार्थी संकट है, केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'अभी कोई शरणार्थी संकट नहीं है।

वही 22 मिलियन की आबादी वाले देश पर 50 बिलियन डॉलर से अधिक का कर्ज है। 2027 तक 28 अरब डॉलर चुकाने की जरूरत है। इस बीच, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने कहा है कि वह देश में स्थिति की बारीकी से निगरानी कर रहा है।

गौरतलब हैं कि प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे (Ranil Wickremesinghe) के घर को भी आग के हवाले कर दिया गया. घर में आग लगाने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार (Arrested) किया गया है। विक्रमसिंघे ने घोषणा की है कि नई सरकार के सत्ता में आने के बाद वह पद छोड़ देंगे। राजपक्षे के इस्तीफे पर एक बयान सार्वजनिक किया गया है, जिसके अनुसार वह औपचारिक रूप से 13 जुलाई को अपना राष्ट्रीय पद से इस्तीफा देंगे।

और पढ़ें
Next Story