Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Sri Lanka Crisis: रानिल विक्रमसिंघे कार्यवाहक राष्ट्रपति बने, साजिथ प्रेमदासा ने साधा निशाना, देशभर में विरोध प्रदर्शन बढ़ा

गोटाबाया राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksa) के मालदीव भाग जाने के बाद कार्यवाहक राष्ट्रपति बनेंगे।

Sri Lanka Crisis: रानिल विक्रमसिंघे कार्यवाहक राष्ट्रपति बने, साजिथ प्रेमदासा ने साधा निशाना, देशभर में विरोध प्रदर्शन बढ़ा
X

श्रीलंका (Sri Lanka) के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे (Prime Minister Ranil Wickremesinghe) बुधवार को गोटाबाया राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksa) के मालदीव भाग जाने के बाद कार्यवाहक राष्ट्रपति बनेंगे। जल्द ही वह कार्यवाहक राष्ट्रपति का पद संभालेंगे। रानिल विक्रमसिंघे ने देशभर में जारी प्रदर्शन को देखते हुए आपातकाल की घोषणा कर दी है।

कार्यवाहक राष्ट्रपति बनने के बाद श्रीलंका के एलओपी साजिथ प्रेमदासा ने निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री कार्यवाहक राष्ट्रपति बनते तब जब राष्ट्रपति उन्हें नियुक्त करे, उनके ऑफिस में पद खाली हो, चीफ जस्टिस की सलाह पर या फिर जब राष्ट्रपति काम करने में असमर्थ हों। इनके बिना प्रधानमंत्री राष्ट्रपति की शक्तियों का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं और न ही कर्फ्यू की घोषणा कर सकते हैं।

वहीं दूसरी तरफ जानकारी है कि श्रीलंकाई पुलिस ने कोलंबो में पीएम आवास के पास भीड़ को तितर बितर करने के लिए आंसू गैस को गोले तागे हैं। जानकारी के लिए बता दें कि गोटाबाया राजपक्षे तड़के बुधवार को देश छोड़कर भाग गए। अपने पद छोड़ने के कुछ घंटों बाद वह देश छोड़कर भाग गए। ऐसे वक्त में देश से भाग गए हैं, जब विनाशकारी आर्थिक संकट के बीच यहां भोजन और तेल की कमी है।

जानकारी के लिए बता दें कि गोटबाया राजपक्षे के देश से भागने के बाद प्रदर्शनकारी नाराज हो गए हैं। राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के मालदीव भाग जाने के बाद गुस्साए प्रदर्शनकारी कोलंबो में प्रदर्शन कर रहे हैं। जबकि कई लोग श्रीलंका के पीएम रानिल विक्रमसिंघे के आवास पर धावा बोल दिया था। प्रदर्शनकारियों को दीवार फांदते और प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे के कार्यालय परिसर में एंट्री करते हुए देखा जा सकता है।

और पढ़ें
Next Story