Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राष्ट्रीय खेल दिवस: पीएम मोदी बोले हॉकी स्टिक के जादू को कभी नहीं भुलाया जा सकता, जानें क्यों मनाया जाता है खेल दिवस

पीएम मोदी ने ट्वीट में लिखा, "आज राष्ट्रीय खेल दिवस पर हम मेजर ध्यानचंद को श्रद्धांजलि देते हैं, जिनके हॉकी स्टिक के जादू को कभी नहीं भुलाया जा सकता।

राष्ट्रीय खेल दिवस: पीएम मोदी बोले हॉकी स्टिक के जादू को कभी नहीं भुलाया जा सकता, जानें क्यों मनाया जाता है खेल दिवस
X
पीएम मोदी, फ़ोटो फ़ाइल

राष्ट्रीय खेल दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को बधाई दी है। साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खिलाड़ियों के उत्कृष्ट प्रदर्शन की सराहना भी की है। राष्ट्रीय खेल दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद को श्रद्धांजलि दी। साथ ही कहा कि उनके स्टिक के जादू को नहीं भुलाया जा सकता। यह हमारे प्रतिभाशाली एथलीटों की सफलता के लिए परिवारों, कोचों और सहयोगी कर्मचारियों द्वारा दिए गए उत्कृष्ट समर्थन की सराहना करने का भी दिन है।

इसके अलावा पीएम मोदी ने अपने ट्विटर एकाउंट से 1 और ट्वीट करते हुए लिखा कि राष्ट्रीय खेल दिवस उन सभी अनुकरणीय खिलाड़ियों की उल्लेखनीय उपलब्धियों का जश्न मनाने का दिन है, जिन्होंने विभिन्न खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। साथ ही हमारे देश को गौरवान्वित किया है। उनका तप और दृढ़ संकल्प शानदार है।

पीएम मोदी ने यह भी लिखा हमारी सरकार खेल को लोकप्रिय बनाने और देश में खेल प्रतिभाओं को समर्थन देने की कोशिश कर रही है। साथ ही, मैं सभी से खेल और फिटनेस एक्सरसाइज को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाने का आग्रह करता हूं। ऐसा करने के कई फायदे हैं। हर कोई खेल से खुश और स्वस्थ रह सकता है।

क्यों मनाया जाता है खेल दिवस

जानकारी के आपको बता दें कि 29 अगस्त 1905 को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद का जन्म हुआ था। हॉकी में मेजर ध्यानचंद के उत्कृष्ट प्रदर्शन को सम्मान देने के मकसद से देश में प्रतिवर्ष 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है। इस दिन देश के राष्ट्रपति राजीव गांधी खेल रत्न, अर्जुन और द्रोणाचार्य पुरस्कार जैसे अवार्ड नामित खिलाड़ियों और उनके कोचों को प्रदान करते हैं।

Next Story