Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

श्रीपद नाइक बोले बाबा रामदेव की दवा को जांच के बाद ही मिलेगी अनुमति

केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ने कोरोना की दवा को लेकर बयान दिया है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ने कहा है कि यह अच्छी बात है बाबा रामदेव ने देश को कोरोना वायरस की नई दवा दी है।

श्रीपद नाइक बोले बाबा रामदेव की दवा को जांच के बाद ही मिलेगी अनुमति
X
केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक फोटो एएनआई

बाबा रामदेव ने बीते मंगलवार को दावा किया कि उसने कोरोना वायरस के इलाज के लिए दवा को तैयार कर लिया है। उनका दावा है कि सात दिन में 100 प्रतिशत कोरोना मरीज ठीक हो जाएगा। इसके बाद दवा को लेकर लोगों के बीच चर्चा तेज हो गई है। वहीं इस दवा को लेकर आयुष मंत्रालय ने साफ कर दिया कि पहले कंपनी इसका परीक्षण व अन्य जानकारियों को उसके साथ साझा करेगी।

वहीं केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ने कोरोना की दवा को लेकर बयान दिया है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ने कहा है कि यह अच्छी बात है बाबा रामदेव ने देश को कोरोना वायरस की नई दवा दी है। लेकिन नियम के मुताबिक, दवा को पहले आयुष मंत्रालय में जांच के लिए देना होगा। रामदेव ने यहां तक कहा है कि उन्होंने एक रिपोर्ट भेजी है। हम इसे देखेंगे और इसके बाद ही दवा को प्रयोग के लिए अनुमति दी जाएगी।

क्या है बाबा रामदेव का दावा

पतंजलि के बाबा रामदेव ने बीते मंगलवार को हरिद्वार में कोरोनिल दवा की लॉन्चिंग की। इस मौके पर बाबा रामदेव ने कहा था कि दवा के हमने दो ट्रायल किये। पहला- क्लिनिकल कंट्रोल स्टडी, दूसरा- क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल।

रामदेव ने आगे कहा था कि दिल्ली से लेकर कई शहरों में हमने क्लिनिकल कंट्रोल पर स्टडी की है। इस स्टडी के तहत हमने 280 कोरोना मरीजों को शामिल किया। क्लिनिकल स्टडी के रिजल्ट में 100 प्रतिशत मरीजों की रिकवरी हुई है। और किसी मरीज की मौत भी नहीं हुई है। रामदेव ने बताया कि हम कोरोना के सभी चरण को रोकने में कामयाब हो पाएं हैं।

हमने दूसरे चरण में क्लिनिकल कंट्रोल का ट्रायल किया। रामदेव ने दावा करते हुए कहा कि 100 लोगों पर क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल की स्टडी की गई। 3 दिन के भीतर 69 प्रतिशत मरीज ठीक हुए। जबकि सात दिन के भीतर 100 प्रतिशत मरीज ठीक हो गए। हमारी दवाई का 100 प्रतिशत रिकवरी रेट है और 0 प्रतिशत डेथ रेट है।

Next Story