Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शिवसेना बॉर्डर पर फायरिंग को लेकर भड़की, कहा-नेपाली बंदूकों की नालियों को तुरंत तोड़ देना चाहिए

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ के एक संपादकीय में कहा गया कि पड़ोसी देश चीन भले ही अभी लद्दाख में चुपचाप बैठा है। लेकिन चीन यह सुनिश्चित करने के लिए खेल खेल रहा है कि भारतीय बॉर्डर्स पर शांति न बनी रहे। और चीन, नेपाल और पाकिस्तान से बॉर्डर पर फायरिंग करा रहा है।

शिवसेना बॉर्डर पर फायरिंग को लेकर भड़की, कहा-नेपाली बंदूकों की नालियों को तुरंत तोड़ देना चाहिए
X
शिवसेना

शिवसेना ने मंगलवार को नेपाल सशस्त्र पुलिस बल की तरफ से देश के बॉर्डर पर हाल में की गई गोलीबारी पर बड़ा बयान दिया है। शिवसेना का कहना है कि नेपाली बंदूकों की नलियां तत्काल तोड़ देने चाहिए। यदि ऐसा नहीं हुआ तो नेपाल भी हमेशा के लिए पाकिस्तान की तरह सिरदर्दी बन जाएगा।

मिली जानकारी के मुताबिक, शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' के एक संपादकीय में कहा गया कि पड़ोसी देश चीन भले ही अभी लद्दाख में चुपचाप बैठा है। लेकिन चीन यह सुनिश्चित करने के लिए खेल खेल रहा है कि भारतीय बॉर्डर्स पर शांति न बनी रहे। और चीन, नेपाल और पाकिस्तान से बॉर्डर पर फायरिंग करा रहा है।

शिवसेना ने जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों को करारा जवाब देने के लिए भारतीय सेना की तारीफ की। साथ ही शिवसेना ने यह जानना चाहा है कि देश के शासक पाकिस्तान की तरफ से किए जाने वाले संघर्षविराम उल्लंघनों और बॉर्डर पार से हो रही फायरिंग को रोक पाने में कब सफल होंगे।

पुलिस के मुताबिक, बिहार के किशनगंज जिले में बीते शनिवार को भारत और नेपाल बॉर्डर पर 'नो मेन्स लैंड' पर नेपाल सशस्त्र पुलिस बल की तरफ से फायरिंग की गई। जिसमें भारत का एक नागरिक घायल हो गया था।

वहीं बिहार के सीतामढ़ी जिले में लालबंदी जानकी नगर गांव के पास बीती 12 जून को भारत-नेपाल बॉर्डर पर नेपाल सशस्त्र पुलिस बल की ओर से की गई फायरिंग में एक भारतीय नागरिक की मौत हो गई थी और दो अन्य घायल हो गए थे। शिवसेना ने यह भी कहा कि पाकिस्तान ने इस साल अब तक 2 हजार 700 से ज्यादा बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया है।

Next Story