Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शशि थरूर बोले- फेज 3 ट्रायल के बिना भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को कैसे दे दी मंजूरी, डीसीजीआई ने दिया स्पष्टीकरण

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने अपने ट्वीटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा, कोवैक्सीन के तीसरे चरण का परीक्षण अभी तक नहीं हुआ है। कोवैक्सीन को समय से पहले मंजूरी देना खतरनाक भी हो सकता है।

शशि थरूर बोले- फेज 3 ट्रायल के बिना भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को कैसे दे दी मंजूरी, डीसीजीआई ने दिया स्पष्टीकरण
X

कांग्रेस नेता शशि थरूर

ड्रग्‍स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) ने भारत में सीरम इंस्टीट्यूट की वैक्सीन कोविशील्ड और भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन के आपातकाल इस्तेमाल की अंतिम मंजूरी दे दी है। कोरोना वैक्सीन की मंजूरी पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने सवाल उठाया है।

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने अपने ट्वीटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा, कोवैक्सीन के तीसरे चरण का परीक्षण अभी तक नहीं हुआ है। कोवैक्सीन को समय से पहले मंजूरी देना खतरनाक भी हो सकता है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्ष हर्षवर्धन इस संबंध में स्पष्टीकरण दें। वैक्सीन का ट्रायल पूरा होने तक इसके उपयोग से बचा जाना चाहिए। भारत को इस दौरान एस्ट्राजेनेका वैक्सीन का इस्तेमाल करना चाहिए।

शशि थरूर के बयान पर डीसीजीआई ने दिया स्पष्टीकरण

ड्रग्‍स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) ने भारत बायोटेक की वैक्सीन को लेकर उठ रहे सवालों पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि जब तक इस वैक्सीन का इस्तेमाल करने वाला लाभार्थी वैक्सीन की जानकारी होने के बाद सहमति पर सिग्नेचर नहीं करेगा तब तक भारत बायोटेक के टीके को मंजूरी नहीं दी जाएगी। वैक्सीन जब तक अपना ट्रायल पूरा नहीं कर लेती तब तक इसे पूरी तरह से मंजूरी नहीं दी जाएगी।

मिली जानकारी के मुताबिक, डीसीजीआई वीजी सोमानी का कहना है कि यदि किसी भी चीज में जरा सी भी खामी होगी तो हम उसे इजाजत नहीं देंगे। कोरोना वैक्सीन 110 प्रतिशत सुरक्षित है। इसके कुछ सामान्‍य साइड इफेक्‍ट हो सकते हैं। जैसे कि हल्‍का बुखार, सिर दर्द और एलर्जी आदि।

Next Story