Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से नाराज हुए शरद पवार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र

महाराष्ट्र में धार्मिक स्थानों को खोलने के मामले ने राजनीतिक रूप ले लिया है। जानकारी मिल रही है कि अब इस मामले में शरद पवार ने भी आपत्ति जताई है। उन्होंने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के खिलाफ शिकायत करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भी लिखा है।

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से नाराज हुए शरद पवार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र
X

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से नाराज हुए शरद पवार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र

महाराष्ट्र में धार्मिक स्थानों को खोलने के मामले ने राजनीतिक रूप ले लिया है। जानकारी मिल रही है कि अब इस मामले में शरद पवार ने भी आपत्ति जताई है। उन्होंने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के खिलाफ शिकायत करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भी लिखा है।

शरद पवार ने लिखा पत्र

शरद पवार ने अपने पत्र में लिखा है कि संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों को उसकी गरिमा का पालन करना चाहिए। इसके अंतर्गत उन्हें अपने भाषा और बोलने के लहजे पर ध्यान देना चाहिए।

शरद पवार ने पत्र में लिखा कि आपने भी देखा होगा कि राज्यपाल ने कैसी भाषा का इस्तेमाल किया। संविधान में धर्मनिरपेक्ष शब्द सभी धर्मों को जोड़ने के लिए जोड़ा गया है। इसी का पालन कर रहे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के खिलाफ ऐसी भाषा का प्रयोग बिल्कुल सही नहीं है। मैं इस मुद्दे पर उद्धव ठाकरे का समर्थम करते हूं।

राज्यपाल ने कही थी ये बात

राज्यपाल ने चिट्ठी लिखकर कहा था कि महाराष्ट्र सरकार ने बार और रेस्तरां खोल दिया। लेकिन मंदिर के बारे में बात तक नहीं करना चाहती है। उन्होंने लिखा है कि आप तो हिंदुत्व का मानने वाले इंसान थे। भगवान राम के लिए भी आपने अपनी भक्ति दिखाई थी। लेकिन मुझे काफी आश्चर्य हो रहा है कि आप मंदिर अभी भी खोलना नहीं चाह रहे हैं। क्या आपको कोई दिव्य प्रेम प्राप्त हो गया है या आप धर्मनिरपेक्ष हो गए हैं। आप तो धर्मनिरपेक्ष शब्द से नफरत करते रहे हैं।

उद्धव ठाकरे ने दिया था जवाब

इस मामले में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि जिस तरह से अचानक से लॉकडाउन लागू करना सही नहीं था, उसी तरह अचानक हटाना भी सही नहीं है। मैं हिंदुत्व को मानता हूं, लेकिन इसके लिए मुझे आपसे किसी प्रमाण की जरूरत नहीं है।

Next Story