Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जम्मू कश्मीर : पुलवामा में मोस्ट वॉन्टेड आतंकी रियाज नायकू ढेर, बीमार मां से मिलने आया था घर, इतने लाख का था इनाम

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में एक बार फिर सुरक्षाबलों को एक बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों ने हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी रियाज नायकू को मुठभेड़ में मार गिराया।

जम्मू कश्मीर : पुलवामा में मोस्ट वॉन्टेड आतंकी रियाज नायकू ढेर, बीमार मां से मिलने आया था घर, इतने लाख का था इनाम
X

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में एक बार फिर सुरक्षाबलों को एक बड़ी कामयाबी मिली है। पुलवामा में नायकू के गांव बेगपोरा में आज सुबह सुरक्षा बलों और स्थानीय पुलिस ने रियाज नैकू के घर को घेर लिया था। रियाज नैकू आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के टॉप कमांडरों में से एक था। जो आज सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सुरक्षाबलों को रियाज नायकू के घर आने की सूचना मिली थी। जिसके बाद पुलिस फोर्स नायकू के घर को घेर लिया। जिसके बाद 8 से 10 घंटे तक मुठभेड़ हुई। फिलहाल पूरे कश्मीर में इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है।

सेना प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद ने जानकारी देते हुए बताया कि नायकू घर की छत पर छिपा बैठा था। उन्होंने बताया बेगपोरा में पहले सुरक्षाबलों ने दो आतंकवादियों को मार गिराया। जबकि एक अन्य मुठभेड़ में दो और आतंकी मारे गए। बीते 24 घंटे में 4 आतंकवादी अब तक मार जाए गए हैं। फिलहाल सेना ने किसी भी तरह की जानकारी देने से साफ मना कर दिया है। लेकिन वहीं आतंकी नायकू को मार गिराया गया है।

जानकारी देते हुए बताया कि बीती रात इंटेलिजेंट की पुख्ता रिपोर्ट मिली थी, जिसके आधार पर इलाके के उस घर को घर आ गया। उसके आसपास के खेतों और और रेलवे ट्रैक की खुदाई की गई। ताकि आसपास कोई आतंकी सुरंग ना मिले। लेकिन उसके बाद ही आतंकवादियों ने फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद सेना ने जवाबी कार्रवाई की और मुंहतोड़ जवाब देते हुए आतंकवादियों को मार गिराया।

नायकू पर इतने लाख का था इनाम

आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के टॉप कमांडर में शामिल रियाज पर 12 लाख रुपए का इनाम था। उसके ऊपर कई पुलिसकर्मियों की किडनैपिंग और हत्या के मामले दर्ज हैं। वो आतंकियों की ए++ कैटेगरी में शामिल था।

मैथ्स टीचर से आतंकी बना

जम्मू कश्मीर के पुलवामा का रहने वाला रियाज नायकू मैथ्स का टीचर था। जो 2010 के उपद्रव के बाद एक मोस्ट वांटेड आतंकवादी बन गया। कहा जाता है कि 2010 में कश्मीर में चल रहे उपद्रव के दौरान एक बच्चे की मौत हुई। जिसके बाद कई महीनों तक कश्मीर में पत्थरबाजी और कर्फ्यू लगा रहा था।

बीमार मां से मिलने के लिए घर आया था यह आतंकी

पुलवामा का रहने वाला रियाज नायकू अपनी बीमार मां से मिलने के लिए घर आया था। इसी दौरान सेना ने घेराबंदी की और उसे उसके साथियों के साथ घेर लिया। कहा जाता है कि वह अपने करीबियों पर बहुत भरोसा करता था। उसने अपने गांव के कई लड़कों को आतंकी संगठन में शामिल किया था।

इस वक्त कश्मीर में 35 आतंकवादी संगठन एक्टिव हैं। जिसमें से 10 हिजबुल मुजाहिद्दीन के हैं। कहा जाता है कि यह पहला मौका नहीं था। जब नायकू की घेराबंदी की गई हो। इससे पहले भी वह सेना और पुलिस को चकमा देकर भागने में कामयाब हुआ था। उसने कई बार आतंकवादियों के जनाजे के दौरान गन सैल्यूट करते हुए फोटो खिंचवाई हैं। उसके कई बार ऑडियो और वीडियो मैसेज भी वायरल हो चुके हैं।

Next Story