Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राहुल गांधी को किसी भी विषय पर कोई ज्ञान नहीं, मगर हर विषय पर बोलना है: संबित पात्रा

प्रधानमंत्री जी ने कहा था कि ऐसा कोई डिटेंशन कैंप नहीं है, जिसमें एनआरसी के बाद हिंदुस्तान के मुसलमानों को रखा जाएगा। ये झूठ फैलाया जा रहा है।

राहुल गांधी को किसी भी विषय पर कोई ज्ञान नहीं, मगर हर विषय पर बोलना है: संबित पात्रा
X
भाजपा नेता संबित पात्रा

भाजपा नेता संबित पात्रा ने गुरुवार को नई दिल्ली में भाजपा मुख्यालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के ट्वीट पर प्रतिक्रिया दी। संबित पात्रा ने कहा है कि आज राहुल गांधी जी ने कुछ ट्वीट किया है और जिस प्रकार की भाषा का प्रयोग किया है वो बहुत आपत्तिजनक है। उन्होंने कहा है की आसएसए का प्रधानमंत्री भारत माता से झूठ बोलता है। मुझे लगता है राहुल गांधी से भद्रता और अच्छी भाषा की अपेक्षा करना ही गलत है।

सुप्रीम कोर्ट में राहुल गांधी ने माफी मांगी थी

राफेल पर झूठ फैलाने के बाद सुप्रीम कोर्ट में राहुल गांधी ने माफी मांगी थी। आज वो प्रधानमंत्री जी की बात को लेकर भ्रम फैला रहे हैं। प्रधानमंत्री जी ने कहा था कि ऐसा कोई डिटेंशन कैंप नहीं है, जिसमें एनआरसी के बाद हिंदुस्तान के मुसलमानों को रखा जाएगा। ये झूठ फैलाया जा रहा है। इसमें प्रधानमंत्री जी ने क्या झूठ बोला है?

2011 में केंद्र में कांग्रेस सरकार थी

13 दिसंबर 2011 को केंद्र सरकार के एक प्रेस रिलीज में कहा गया था कि 3 डिटेंशन कैंप असम में खोले गये हैं। 2011 में केंद्र में कांग्रेस सरकार थी। 20 अक्टूबर 2012 को असम की कांग्रेस सरकार ने श्वेत पत्र जारी किया था। इसमें पेज 38 में लिखा है कि केंद्र सरकार ने असम सरकार को यह निर्देश दिया है कि आप डिटेंशन सेंटर सेट कीजिए।

इनका मकसद एक है कि ये चाय वाला कैसे प्रधानमंत्री बन गया

राहुल गांधी को जानना कुछ नहीं है, लेकिन बोलना सब कुछ है। किसी भी विषय पर राहुल गांधी जी को कोई ज्ञान नहीं है, मगर हर विषय पर बोलना है। इनका मकसद न तो एनपीआर का है, न सीएए का है। इनका मकसद एक है कि ये चाय वाला कैसे प्रधानमंत्री बन गया।

गुवाहटी हाईकोर्ट में हुए एक केस के अनुसार कोर्ट ने माना है कि 2009 में जो पत्रक उस समय के गृह मंत्रालय ने जारी किया था, उसके अंदर डिटेंशन सेंटर और उसमें लोगों को रखने के नियम हैं। कोर्ट स्पष्ट कहती है कि ये सब तब के गृह मंत्रालय के अनुसार हुआ था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story