Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

उद्धव ठाकरे की शिंदे कैंप को खुली चुनौती, बोले- मैं अब भी शिवसेना का पद छोड़ने के लिए तैयार हूं

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सीएम उद्धव ने बागियों को चुनौती देते हुए कहा कि अगर दम है तो ठाकरे और शिवसेना का नाम लिए बिना खड़े होकर दिखाओ।

उद्धव ठाकरे की शिंदे कैंप को खुली चुनौती, बोले- मैं अब भी शिवसेना का पद छोड़ने के लिए तैयार हूं
X

महाराष्ट्र (Maharashtra) की राजनीति में बीते 4 दिनों से लगातार सियासी कयास बदल रहे हैं। शिंदे कैंप और 12 बागियों को लेकर नरहरि झिरवाल के फैसले पर अगले 48 घंटे से सभी की निगाहें टिकी हुई हैं। इसी बीच एक बार फिर बागियों को मनाने के लिए उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैं शिवसेना (Shivsena) के अध्यक्ष का पद छोड़ने को तैयार हूं। लेकिन साथ ही उन्हें खुली चुनौती दे डाली।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सीएम उद्धव ने बागियों को चुनौती देते हुए कहा कि अगर दम है तो ठाकरे और शिवसेना का नाम लिए बिना खड़े होकर दिखाओ। अब तक एकनाथ शिंदे ग्रुप ने केवल बालासाहेब ठाकरे के विचारों, उनके हिंदुत्व का उल्लेख किया। विधायकों की संख्या के बल पर उन्होंने यह भी कहा था कि यही असली शिवसेना है। इन्हीं दो मुद्दों को ध्यान में रखते हुए उद्धव ठाकरे ने अब उन्हें खुलकर चुनौती दी है।

जानकारी के लिए बता दें कि शिंदे ग्रुप में जाने वाले 12 विधायकों को अयोग्य ठहराने के आवेदन पर शिवसेना जल्द ही फैसला ले सकती है। ऐसे में कयास है कि अगर फैसला शिंदे और बाकी बागियों के के खिलाफ जाता है, तो शिंदे और उनके सहयोगी अदालत में फैसले को चुनौती दे सकते हैं। इसमें देवेंद्र फडणवीस की मौजूदगी में दिल्ली में बीजेपी में हड़कंप मच गई है। बीती रात कुछ अहम नेताओं से बातचीत हुई थी।

इसके अलावा मोदी-शाह की बातचीत के बाद अब फडणवीस की बैठकों में सरकार गठन आंदोलन को गति मिलने की संभावना है। भाजपा के अगले 48 घंटों में सीधे तौर पर सक्रिय होने की संभावना है। इस बीच संभावना यह भी जताई जा रही है कि आज शिवसेना के 3 और विधायक असम के गुवाहाटी पहुंच रहे हैं। इसके साथ ही 5 निर्दलीय विधायक भी शिंदे का साथ दे सकते हैं। क्योंकि शिंदे ने कहा था कि एक बड़े राष्ट्रीय दल ने उन्हें समर्थन देने के लिए कहा है।

और पढ़ें
Next Story