Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शोध में खुलासा: देश के इन शहरों में वायु प्रदूषण से एक लाख मौतें, जानें कहां

अभी हाल ही में हुए एक शोध (Research) से बड़ा खुलासा हुआ है कि भारत में वायु प्रदूषण की वजह से करीब एक लाख लोगों की मौत हो चुकी है। भारत में कई ऐसे शहर हैं जहां प्रदूषण का स्तर बहुत खराब है।

शोध में खुलासा: देश के इन शहरों में वायु प्रदूषण से एक लाख मौतें, जानें कहां
X

वायु प्रदूषण (Air Pollution) की समस्या सिर्फ भारत (India) में ही नहीं दुनिया के कई देशों में है। जहां पर वायु प्रदूषण की वजह से हर साल कितने ही लोगों की मौत हो जाती है। अभी हाल ही में हुए एक शोध (Research) से बड़ा खुलासा हुआ है कि भारत में वायु प्रदूषण की वजह से करीब एक लाख लोगों की मौत हो चुकी है। भारत में कई ऐसे शहर हैं जहां प्रदूषण का स्तर बहुत खराब है।

रिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया में सबसे ज्यादा वायु प्रदूषण की वजह से हुई मौत के मामलों में दक्षिण एशिया के शहर शामिल हैं। शोध से मिली जानकारी के मुताबिक, भारत में एक लाख लोगों की अकाल मृत्यु की वजह वायु प्रदूषण है। पुणे, मुंबई, कोलकाता, बैंगलोर, हैदराबाद, सूरत और चेन्नई जैसे शहर हैं।

बर्मिघम विश्वविद्यालय और यूसीएल की रिसर्च रिपोर्ट बताती है कि बीते 14 सालों में तेजी से बढ़ते वायु प्रदूषण की वजह से लगभग 1,80,000 अकाल मृत्यु हुई है। जिसकी वजह वायु प्रदूषण ही है। साइंटिस्टों की रिपोर्ट के मुताबिक, एक टीम ने साल 2005 से 2018 के बीच वायु प्रदूषण को लेकर अफ्रीका, एशिया और मध्य पूर्व शोध किया।

वैज्ञानिकों की एक टीम ने दक्षिण एशिया, दक्षिण पूर्व एशिया, मध्य-पूर्व में शोध किया। जिसमें अगर दक्षिण एशिया की बात करें तो इसमें भारत के कई शहर आते हैं और पाकिस्तान का एक शहर शामिल है। जैसे अहमदाबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, चटगांव, ढाका, हैदराबाद, कराची, कोलकाता, मुंबई, पुणे और सूरत हैं।

वहीं दूसरी तरफ बात करें दक्षिण पूर्व एशिया, मध्य-पूर्व तो इसमें बैंकॉक, हनोई, हो ची मिन्ह सिटी, जकार्ता, मनीला, नोम पेन्ह और यांगून, रियाद और सना के शहर आते हैं। बांग्लादेश के ढाका में 24 हजार लोगों की मौत हुई जबकि भारत में एक लाख लोगों की अकाल मृत्यु हुई।

और पढ़ें
Next Story