Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

खुलासा: ट्रक ड्राइवर रोज 132 करोड़ रुपये की देते हैं रिश्वत

82 प्रतिशत से अधिक ट्रक ड्राइवरों ने कहा है कि सड़क पर उन्हें दो विभागों के अधिकारियों को घूस देनी पड़ती है। इतना ही नहीं, पूजा समिति जैसे समूह भी बिना घूस लिए ट्रक को आगे ले जाने नहीं देते हैं।

खुलासा: ट्रक ड्राइवर रोज 132 करोड़ रुपये की देते हैं रिश्वत
X
रिपोर्ट में हुआ खुलासा, रोज इतने करोड़ रुपये घूस देते हैं ट्रक ड्राइवर

हमने अक्सर फिल्मों में देखा है कि पुलिस कैसे ट्रक चालकों से घूस लेती है। लेकिन ये ट्रक ड्राइवर कितने रुपये रोज घूस के तौर पर देते हैं, इसका अंदाजा हम में से कोई नहीं लगा सकता है। एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक एक रिपोर्ट में खुलासा किया है कि ट्रक ड्राइवर हर रोज 132 करोड़ रुपये की रिश्वत देते हैं।

एनजीओ सेवलाइफ फाउंडेशन ने किया रिसर्च

एनजीओ सेवलाइफ फाउंडेशन नें ट्रक ड्राइवरों पर एक अध्ययन किया। जिसमें उन्होंने 10 प्रमुख परिवहन और ट्रांसपोर्ट केंद्रों में सर्वे किया। ज्ञात जानकारी के अनुसार 82 प्रतिशत से अधिक ट्रक ड्राइवरों ने कहा है कि सड़क पर उन्हें दो विभागों के अधिकारियों को घूस देनी पड़ती है।

इतना ही नहीं, पूजा समिति जैसे समूह भी बिना घूस लिए ट्रक को आगे ले जाने नहीं देते हैं। इस तरीके से हर चक्कर में वो औसतन 1257 रुपये की रकम चुकाते हैं। एनजीओ सेवलाइफ फाउंडेशन ने इस अध्ययन के जरिए कहा है कि इस तरह से हर साल 48000 करोड़ रुपये घूस के तौर पर ट्रक ड्राइवरों के द्वारा चुकाए जाते हैं।

कौन सा शहर है सबसे आगे

इस अध्ययन के दौरान गुवाहाटी के 97.5 प्रतिशत ड्राइवरों ने इस बात की पुष्टि की है कि उन्होंने घूस दी है। वहीं चेन्नई 89 प्रतिशत और दिल्ली 84.4 प्रतिशत के साथ दूसरे और तीसरे स्थान पर रहा।

आरटीओ और ड्राइविंग लाइसेंस में भी लिए जाते हैं घूस

इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 44 प्रतिशत ट्रक ड्राइवरों ने स्वीकार किया है कि आरटीओ भी उनसे घूस लेते है। साथ ही रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इस मामले में सबसे आगे बंगलुरू है। वहीं 47 प्रतिशत ड्राइवरों ने माना है कि ड्राइवर लाइसेंस को रिन्यू करवाने में भी उन्हें घूस देनी पड़ती है। जिसमें मुंबई 93 प्रतिशत के साथ सबसे आगे है। वहीं गुवाहाटी और दिल्ली-एनसीआर में क्रमश: 83 और 78 प्रतिशत ड्राइवरों ने माना है कि उन्हें इसके लिए घूस देनी पड़ती है।

Next Story