Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Rafale Aircraft: अंबाला में आज औपचारिक तौर पर राफेल विमान IAF में शामिल हुआ, जानें क्या है खासियतें

राफेल विमान सबसे आक्रमक फाइटर जेट है। यह विमान अपने दुश्मन को दिन हो या रात का अंधेरा, सभी में मारने में सक्षम है।

बड़ी खुशखबरी: भारतीय वायुसेना को मिली राफेल विमान की दूसरी खेप
X
राफेल विमान

अंबाला में आज भारतीय वायु सेना के बेड़े में फ्रांस का सबसे ताकतवर लड़ाकू विमान राफेल औपचारिक तौर पर शामिल हो गया है। इससे पहले राफेल विमान को वायुसेना के बेड़े में शामिल करने का कार्यक्रम शुरू हुआ। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली सर्वधर्म पूजा कार्यक्रम में शामिल हुए। इसके बाद फ्लाईपोस्ट का कार्यक्रम शुरू हुआ।

ये हैं राफेल विमान की खासियत

* राफेल विमान सबसे आक्रमक फाइटर जेट है। यह विमान अपने दुश्मन को दिन हो या रात का अंधेरा, सभी में मारने में सक्षम है।

* राफेल विमान का वजन 10 टन है और इसके अंदर अत्याधुनिक हथियार लोडिंग है।

* विमान के अंदर 25 टन वजनी मिसाइल जा सकती है।

* राफेल स्टीलथ टेक्नोलॉजी से बना हुआ एयरक्राफ्ट है। यह राफेल विमान दुश्मन को रडार पर लेने के बाद खत्म करने में सक्षम है।

* यह विमान हिमालय के ऊपर भी उड़ान भर सकता है। हथियार राफेल (वायु सेना संस्करण) को 9वी जनरेसशन से पेलोड ले जाने के लिए जाना जाता है।

* यह राफेल विमान जहाज रोधी और हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल ले जानें में सक्षम है। यह विमान एस सी ए एल पी मिसाइल 300 किमी से ज्यादा दूरी पर जमीन पर निशाना साध सकती है।

* यह राफेल विमान एक ही समय में 8 अलग-अलग लक्ष्यों पर भी निशाना लगाने में सक्षम है। इस विमान में ट्विन गन पॉड के साथ-साथ 30 मिमी की तोप भी है, जो एक मिनट में 2500 से अधिक राउंड फायर कर सकती है।

* यह विमान मिसाइलों को लेजर मार्गदर्शन में सक्षम बनाता है। बता दें कि भारत ने सितंबर 2016 में फ्रांस के साथ लगभग 53,000 करोड़ रुपये की लागत से 36 राफेल लड़ाकू जेट की खरीद के लिए एक अंतर-सरकारी समझौते पर हस्ताक्षर किए थे।

Next Story