Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Punjab Congress: पंजाब के नए सीएम का फैसला सोनिया गांधी पर छोड़ा, विधायक दल की बैठक में 2 प्रस्ताव पास

अमरिंदर सिंह के इस्तीफे (Captain Amarinder Singh's resignation) के बाद कांग्रेस विधायक दल की बैठक (Congress Legislature Party) हुई। बैठक में दो प्रस्तावों पर मुहर लगी है।

Punjab Congress: पंजाब के नए सीएम का फैसला सोनिया गांधी पर छोड़ा, विधायक दल की बैठक में 2 प्रस्ताव पास
X

पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे (Captain Amarinder Singh's resignation) के बाद कांग्रेस विधायक दल की बैठक (Congress Legislature Party) हुई। बैठक में दो प्रस्तावों पर मुहर लगी है। बैठक में पंजाब के नए सीएम का फैसला कांग्रेस हाईकमान पर छोड़ा है यानी कि अब कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Congress interim president Sonia Gandhi) के फैसले का इंतजार किया जा रहा है। इसकी जानकारी हरीश रावत और अजय माकन ने दी है।

मीडिया के सामने पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने कहा कि पंजाब कांग्रेस में सभी ने कहा है कि हमारी पुरानी परंपरा का पालन करते हुए हम चाहते हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष पहले की तरह सीएलपी (कांग्रेस विधायक दल) का नेता चुनें, जो हम सभी को स्वीकार होगा।

कैप्टन अमरिंदर सिंह की सराहना करते हुए रावत ने कहा कि उन्होंने पूरी योग्यता और क्षमता के साथ नेतृत्व किया। पंजाब को बहुत अच्छी सरकार दी। पंजाब जिन चुनौतियों का सामना कर रहा था। उन्होंने उनका सामना किया और समाधान निकाला। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से बात करने के बाद पद छोड़ने का फैसला लिया और राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया।

जबकि दूसरी तरफ अजय माकन ने कहा कि अभी नाम को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई है और न ही बैठक में इसको लेकर चर्चा हुई है। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पार्टी में महीनों तक चली अंदरूनी कलह के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री पद से दोपहर को सोनिया गांधी से फोन पर बातचीत के बाद इस्तीफा दे दिया। राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने इस्तीफा स्वीकार भी कर लिया।

इस्तीफा देने के बाद कैप्टन सिंह ने कहा कि उन्होंने आज सुबह पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपने फैसले के बारे में जानकारी दी थी। यह तीसरी बार हो रहा है कि विधायकों की बैठक बुलाई गई। ऐसा प्रतीत होता है कि मुझ पर संदेह का तत्व है कि मैं सरकार नहीं चला सका। मैं अपमानित महसूस कर रहा हूं। आपने दो महीने के भीतर तीन बार विधायकों की बैठक बुलाई। इसलिए मैंने इस्तीफा देने का फैसला किया। साथ ही कैप्टन ने नवजोत सिंह सिद्धू को एक त्रासदी बताया और अयोग्य शख्स करार दिया। इतना ही नहीं उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर सिद्धू सीएम बना तो मैं इसका विरोध करूंगा।

Next Story