Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पंजाब: AAP कार्यकर्ताओं का बिजली के खिलाफ प्रदर्शन, कोविड नियमों की अनदेखी, पुलिस ने चलायी वाटर कैनन

पंजाब में बिजली संकट के खिलाफ आम आदमी पार्टी का सीएम फार्महाउस के बाहर विरोध प्रदर्शन जारी है। हजारों की संख्या में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता मौजूद हैं। ऐसे में कोविड-19 नियमों की जमकर छज्जियां उड़ाई गईं।

पंजाब: AAP कार्यकर्ताओं का बिजली के खिलाफ प्रदर्शन, कोविड नियमों की अनदेखी, पुलिस ने चलायी वाटर कैनन
X

पंजाब के मोहाली में आम आदमी पार्टी के हजारों कार्यकर्ता बिजली के खिलाफ सड़कों पर उतर आए हैं। सीएम हाऊस के बाद कार्यकर्ताओं के ऊपर पुलिस ने भीड़ को तितर बितर करने के लिए वाटर कैनन का इस्तेमाल किया। ये सभी कार्यकर्ता बिजली कटौती के खिलाफ एकजुट हुए हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, हजारों की संख्या में एकजुट हुए प्रदर्शनकारियों पर पानी की बौछार की गई। लेकिन अभी भी कार्यकर्ता सरकार के खिलाफ हल्ला बोल जारी रका है। हजारों की संख्या में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता मौजूद हैं। ऐसे में कोविड-19 नियमों की जमकर छज्जियां उड़ाई गईं।

आप वीडियो में देख सकते हैं कि कैसे मोहाली में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने राज्य में बिजली कटौती को लेकर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के घर के नजदीक विरोध प्रदर्शन किया। वहीं एक दिन पहले ही कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने भी अमरिंदर सिंह से बिजली कटौती को लेकर ट्वीट कर कहा था कि अगर सही दिशा में कोशिश करें तो पंजाब में बिजली कटौती की जरूरत नहीं पड़ेगी। सीएम कार्यालयों के कामकाज का समय और एसी के इस्तेमाल निर्धारित नहीं कर सकते हैं।

पंजाब में केजरीवाल ने किया था बिजली को लेकर ऐलान

पंजाब में 4.54 रुपए की औसत लागत पर बिजली खरीदी जा रही है। जबकि राष्ट्रीय स्तर पर 3.85 रुपए प्रति यूनिट से भुगतान हो रहा है। इसके अलावा चंडीगढ़ में 3.44 रुपये से भुगतान हो रहा है। जो अन्य राज्यों की तुलना में ज्यादा है। आगे कहा कि पंजाब की प्रति यूनिट खपत का राजस्व भारत में सबसे कम है। जो पूरी बिजली खरीद और आपूर्ति प्रणाली के सकल कुप्रबंधन के कारण है। वहीं केजरीवाल ने विधानसभा चुनाव से पहले पंजाब में बिजली के मुद्दे को हवा दी और ऐलान करते हुए कहा कि राज्य में हर घर तक 300 यूनिट बिजली फ्री दी जाएगी। जबकि पुराने बिलों को माफ किया जाएगा।


Next Story