Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Pulwama Attack: पीएम मोदी, राजनाथ सिंह समेत इन नेताओं ने दी श्रद्धांजलि, यहां देखें शहीद जवानों की पूरी लिस्ट

Pulwama Attack Anniversary: राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर लिखा कि 2019 में आज के दिन पुलवामा में सीआरपीएफ के जवान शहीद हो गये थे। भारत उनके बलिदान को कभी नहीं भूलेगा।

मदवि ने पुलवामा शहीदों को दी श्रद्धांजलिपुलवामा के शहीद( फाइल फोटो)

Pulwama Attack (पुलवामा की पहली बरसी) : पुलवामा आतंकी हमले की पहली बरसी देश शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दे रहा है। आज ही के दिन 14 फरवरी को 40 केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की आतंकी हमले में शहादत हो गई थी। देश भर में सीआरपीएफ के बहादुरों जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए पूरे दिन कई आयोजन किए जाएंगे। सीआरपीएफ ने भी ट्वीट कर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी है। सीआरपीएफ ने ट्वीट कर लिखा कि उन शहीदों को श्रद्धांजलि दी जिन्होंने राष्ट्र के लिए अपना बलिदान दिया।

पीएम नरेंद्र मोदी ने शहीदों दी श्रद्धांजलि

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले साल भीषण पुलवामा हमले में जान गंवाने वाले बहादुर शहीदों को श्रद्धांजलि। वे असाधारण व्यक्ति थे जिन्होंने हमारे राष्ट्र की सेवा और रक्षा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। भारत उनकी शहादत को कभी नहीं भूलेगा।

गर्व इतना था कि हम देर तक रोये नहीं

सीआरपीएफ ने ट्वीट कर लिखा कि तुम्हारे शौर्य के गीत, कर्कश शोर में खोये नहीं। गर्व इतना था कि हम देर तक रोये नहीं। हम नहीं भूले, हमने नहीं भुलाया: हम अपने उन भाइयों को सलाम करते हैं जिन्होंने पुलवामा में राष्ट्र की सेवा में अपने जीवन का बलिदान दिया। प्रेरित, हम अपने बहादुर शहीदों के परिवारों के साथ खड़े हैं।

राजनाथ सिंह ने जवानों को दी श्रद्धांजलि

राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर लिखा कि 2019 में आज के दिन पुलवामा में सीआरपीएफ के जवान शहीद हो गये थे। भारत उनके बलिदान को कभी नहीं भूलेगा। पूरा देश आतंकवाद के खिलाफ एकजुट है और हम इस खतरे के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मैं पुलवामा हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि देता हूं। भारत हमेशा हमारे बहादुरों और उनके परिवारों का आभारी रहेगा जिन्होंने हमारी मातृभूमि की संप्रभुता और अखंडता के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया।

राहुल गांधी ने उठाया सवाल

आज जैसा कि हमें पुलवामा हमले में हमारे 40 सीआरपीएफ शहीदों को याद करते हैं, हमें पूछें:

1. हमले से सबसे ज्यादा किसे फायदा हुआ?

2. हमले में जांच का परिणाम क्या है?

3. बीजेपी सरकार में से किसने अभी तक हमले की अनुमति देने वाली सुरक्षा चूक के लिए जवाबदेह ठहराया है?

यह भी पढ़ें - Pulwama Attack : 14 फरवरी को लहू-लुहान हुई थी स्वर्ग जैसी धरती, आतंकियों ने इस तरह हमले को दिया था अंजाम

शहीद सीआरपीएफ जवानों की पूरी लिस्ट

* हेड कांस्टेबल नसीर अहमद (जम्मू और कश्मीर)

* कांस्टेबल सुखजिंदर सिंह (पंजाब)

* हेड कांस्टेबल जयमल सिंह (पंजाब)

* कांस्टेबल रोहिताश लांबा (राजस्थान)

* कांस्टेबल तिलक राज (हिमाचल प्रदेश)

* हेड कांस्टेबल विजय सोरेंग (झारखंड)

* कांस्टेबल वसंत कुमार वीवी (केरल)

* कांस्टेबल सुब्रमण्यम जी (तमिलनाडु)

* कांस्टेबल मनोज कुमार बेहरा (ओडिशा)

* कांस्टेबल जीडी गुरु एच (कर्नाटक)

* हेड कांस्टेबल नारायण लाल गुर्जर (राजस्थान)

* कांस्टेबल महेश कुमार (उत्तर प्रदेश)

* कांस्टेबल प्रदीप कुमार (उत्तर प्रदेश)

* हेड कांस्टेबल हेमराज मीणा (राजस्थान)

* हेड कांस्टेबल पीके साहू (ओडिशा)

* कांस्टेबल रमेश यादव (उत्तर प्रदेश)

* हेड कांस्टेबल संजय राजपूत (महाराष्ट्र)

* कांस्टेबल कौशल कुमार रावत (उत्तर प्रदेश)

* कांस्टेबल प्रदीप सिंह (उत्तर प्रदेश)

* कांस्टेबल श्याम बाबू (उत्तर प्रदेश)

* कांस्टेबल अजीत कुमार आजाद (उत्तर प्रदेश)

* कांस्टेबल मनिंदर सिंह अत्री (पंजाब)

* हेड कांस्टेबल बबलू संतरा (पश्चिम बंगाल)

* कांस्टेबल अश्वनी कुमार काओची (मध्य प्रदेश)

* कांस्टेबल राठौड़ नितिन शिवाजी (महाराष्ट्र)

* कांस्टेबल भागीरथ सिंह (राजस्थान)

* कांस्टेबल वीरेंद्र सिंह (उत्तराखंड)

* हेड कांस्टेबल अवधेश कुमार यादव (उत्तर प्रदेश)

* कांस्टेबल रतन कुमार ठाकुर (बिहार)

* कांस्टेबल पंकज कुमार त्रिपाठी (उत्तर प्रदेश)

* कांस्टेबल जीत राम (राजस्थान)

* कांस्टेबल अमित कुमार (उत्तर प्रदेश)

* कांस्टेबल विजय कृ। मौर्य (उत्तर प्रदेश)

* कांस्टेबल कुलविंदर सिंह (पंजाब)

* हेड कांस्टेबल मनेश्वर तलवार (असम)

* सहायक उप निरीक्षक मोहन लाल (उत्तराखंड)

* हेड कांस्टेबल संजय कुमार सिन्हा (बिहार)

* हेड कांस्टेबल राम वेकेल (उत्तर प्रदेश)

* कांस्टेबल सुदीप विश्वास (पश्चिम बंगाल)

* कांस्टेबल शिवचंद्रन (तमिलनाडु)

सीआरपीएफ काफिले को आतंकियों ने विस्फोटक से लदी एसयूवी निशाना बनाया

बता दें कि 14 फरवरी 2019 को लगभग दोपहर तीन बजे 70 वाहनों के सीआरपीएफ के काफिले को विस्फोटक से लदी एसयूवी से निशाना बनाया था। विस्फोटक से भरी एसयूवी से जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकी ने सीआरपीएफ के वाहन को टक्कर मार दी थी।

जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये थे। बाद में हमलावर की पहचान आदिल अहमद डार के रूप में हुई थी। आदिल अहमद के तार आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े थे। हमले की जिम्मेदारी भी जैश-ए-मोहम्मद ने ही ली थी।

Next Story
Top