Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

AMU को लेकर बोले पीएम मोदी, जो देश का है, वह हर देशवासी का है और उसका लाभ सबको मिलना चाहिए

56 साल बाद होने जा रहा है जब देश का प्रधानमंत्री एएमयू के कार्यक्रम को संबोधित करेगा। इससे पहले साल 1964 में तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री एएमयू गए थे। लाल बहादुर शास्त्री ने एएमयू के दीक्षांत समारोह को संबोधित किया था। प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन के मद्देनजर एएमयू प्रशासन ने अपनी पूरी तैयारियां कर ली हैं।

AMU से तालीम लेकर निकले सारे लोग भारत के सर्वश्रेष्ठ स्थानों पर: पीएम मोदी
X

पीएम मोदी

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के शताब्दी वर्ष समारोह को आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संबोधित करेंगे। पीएम मोदी वीडियो कांफ्रेंसिंग जरिये संबोधित करेंगे। पीएम मोदी के साथ ही केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक भी इस समारोह में शामिल होंगे। आपको बता दें कि 56 साल बाद होने जा रहा है जब देश का प्रधानमंत्री एएमयू के कार्यक्रम को संबोधित करेगा। इससे पहले साल 1964 में तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री एएमयू गए थे। लाल बहादुर शास्त्री ने एएमयू के दीक्षांत समारोह को संबोधित किया था। प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन के मद्देनजर एएमयू प्रशासन ने अपनी पूरी तैयारियां कर ली हैं।

Live Update...

जो देश का है, वह हर देशवासी का है: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास को केंद्र सरकार की नीतियों का मूल आधार बताते हुए कहा कि जो देश का है, वह हर देशवासी का है और उसका लाभ हर देशवासी को मिलना चाहिए। अलीगढ़ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय (एएमयू) के शताब्‍दी समारोह को वीडियो कांफ्रेंस के जरिए संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इस विश्वविद्यालय से निकले छात्र भारत की संस्कृति का प्रतिनिधित्व करते हैं। उन्होंने छात्रों से अपील की कि एएमयू के कैंपस में एक भारत, श्रेष्ठ भारत'' की भावना दिनोंदिन मजबूत होती रहे, इसके लिए मिलकर काम करें। इस अवसर को यादगार बनाने के लिए प्रधानमंत्री ने एक विशेष डाक टिकट भी जारी किया।

कोरोना में AMU ने जिस तरह समाज की मदद की, वो अभूतपूर्व: पीएम

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना के इस संकट के दौरान भी AMU ने जिस तरह समाज की मदद की, वो अभूतपूर्व है। हज़ारों लोगों का मुफ्त टेस्ट करवाना, आइसोलेशन वार्ड बनाना, प्लाज्मा बैंक बनाना और पीएम केयर फंड में बड़ी राशि का योगदान देना, समाज के प्रति आपके दायित्वों को पूरा करने की गंभीरता को दिखाता है। आज एएमयू से तालीम लेकर निकले सारे लोग भारत के सर्वश्रेष्ठ स्थानों पर ही नहीं बल्कि दुनिया के सैकड़ों देशों में छाए हुए हैं। एएमयू के पढ़े लोग दुनिया में कहीं भी हों, भारत की संस्कृति का प्रतिनिधित्व करते हैं।

पीएम मोदी ने कहा....

बीते 100 वर्षों में AMU ने दुनिया के कई देशों से भारत के संबंधों को सशक्त करने का भी काम किया है। उर्दू, अरबी और फारसी भाषा पर यहाँ जो रिसर्च होती है, इस्लामिक साहित्य पर जो रिसर्च होती है, वो समूचे इस्लामिक वर्ल्ड के साथ भारत के सांस्कृतिक रिश्तों को नई ऊर्जा देती है।

विशेष डाक टिकट भी किया जाएगा जारी

अलीगढ़ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय (एएमयू) के आधिकारिक बयान के अनुसार इस ऐतिहासिक अवसर को यादगार बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक विशेष डाक टिकट भी जारी किया जाएगा। विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा जारी शेयर की गई जानकारी मुताबिक, मंगलवार सुबह 10 बजे कुरान ख्वानी के साथ इस कार्यक्रम का आगाज होगा। जिसके बाद कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर औपचारिक परिचय कराएंगे। इसके बाद सर सैयद एकेडमी के निदेशक अली मोहम्मद नकवी विश्वविद्यालय की 100 वर्षों की उपलब्धियों को सामने रखेंगे।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक भी करेंगे संबोधित

एएमयू वीमेंस कॉलेज की प्रिंसिपल प्रोफेसर नईमा खातून महिलाओं की शिक्षा में एएमयू का योगदान विषय पर बात करेंगी। इसी क्रम में विश्वविद्यालय के चांसलर सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन अपने विचार व्यक्त करेंगे। इसके बाद केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक समारोह को संबोधित करेंगे। शिक्षा मंत्री के बाद प्रधानमंत्री मोदी एएमयू के 100 वर्ष पूरे होने के अवसर पर एक डाक टिकट जारी करेंगे और फिर कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। कार्यक्रम का समापन एएमयू तराने के साथ होगा।

Next Story