Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

प्रेस एसोसिएशन का पीएम नरेंद्र मोदी को खत बोले, पत्रकारों का इंश्योरेंस क्यों नहीं

भारत सरकार से मान्यता प्राप्त पत्रकारों की संस्था प्रेस एसोसियेशन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया है कि कोरोना वायरस के खतरे के तहत अस्पतालों में जुटे डॉक्टर्स, नर्स और अन्य मेडिकल सेवा के लिए जिस तरह पचास लाख के इंश्योरेंस की घोषणा की गई वैसे ही पत्रकारों के लिए भी इंश्योरेंस की घोषणा की जानी चाहिए।

प्रेस एसोसिएशन का पीएम नरेंद्र मोदी को खत बोले, पत्रकारों का इंश्योरेंस क्यों नहीं

कोरोना वायरस को लेकर प्रेस एसोसिएशन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने पत्रकारों के लिए इंश्योरेंस की मांग की है। प्रेस एसोसियेशन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया है कि कोरोना वायरस के खतरे के तहत अस्पतालों में जुटे डॉक्टर्स, नर्स और अन्य मेडिकल सेवा के लिए जिस तरह पचास लाख के इंश्योरेंस की घोषणा की गई वैसे ही पत्रकारों के लिए भी इंश्योरेंस की घोषणा की जानी चाहिए।

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने इस विषम परिस्थितियों में स्वास्थ्य सेवा में जुटे मेडिकल सेवा के लिए पचास लाख रुपए इंश्योरेंस की घोषणा की है। इसको लेकर प्रेस एसोसिएशन ने मांग की है कि उनको भी इसी तरह का इंश्योरेंस कवर मिलना चाहिए जो ऐसे मुश्किल घड़ी में लोगों की सेवा कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में प्रेस ऐसोसियेशन ने अनुरोध किया है कि मेडिकल सेवा के साथ उस लिस्ट में पत्रकारों को भी जोड़ा जाए। मीडिया के कामकाज को जरूरी सेवाओं में शामिल कर उनके कामकाज का उन्होंने खुद अभिवादन किया है।

प्रेस ऐसोसियेशन ने कहा कि पत्रकारों के लिए भी इंश्योरेंस सेवा लागू होने से ग्राउंड ज़ीरो से पल पल की खबरें देश को पहुंचा रहे, राष्ट्र सेवा में जुटे पत्रकारों और उनके परिजनों को लगेगा कि केंद्र सरकार को उनकी भी उतनी ही चिंता है।

जानकारी के लिए बता दें की भारत में कोरोना वायरस के चलते अब तक 729 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। वहीं अब तक 20 लोगों की मौत हो चुकी है। ऐसे में केंद्र और राज्य सरकार लगातार तेजी से जागरूक लोगों कर रही है। तो वहीं दूसरी तरफ पूरे देश को लॉक डाउन किया गया है।

Next Story
Top